प्रेग्नेंसी में कितनी मात्रा में जरुरी है आयोडीन?

भाषा चयन करे

26th June, 2017

Pregnancy mein iodine kyun zarori hai? | प्रेग्नेंसी में आयोडीन क्यों जरुरी है? | Why Iodine is important in pregnancy? प्रेग्नेंसी में, महिला के शरीर में जिन तत्वों की कमी होने की आशंका होती है, उनमें से एक है आयोडीन। आयोडीन गर्भवती महिला और उसके होने वाले बच्चे के लिए बहुत जरूरी होता है। यही वह तत्व है, जिसकी जरुरत भ्रूण और युवा बच्चों के मस्तिषक के सही विकास के लिए होती है। आयोडीन की कमी से बच्चों में गंभीर रूपस से दिमागी विकार भी पैदा हो सकते हैं।

Image Source

बच्चों के मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के सही विकास के लिए आयोडीन बहुत ज़रूरी होता है। साथ ही प्रेगनेंसी के दौरान, जैसे-जैसे समय आगे बढ़ता है, महिला की आयोडीन की आवश्यकता भी बढ़ती चली जाती है। गर्भवती महिला को अन्य पोषक तत्वों के साथ-साथ आयोडीन की आपूर्ति का भी ध्यान रखना चाहिए। प्रेग्नेंट महिलाओं को दिन में कम से कम 250 एमसीजी आयोडीन की आवश्यकता होती है। साथ ही इसकी मात्रा 1100 एमसीजी से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।  चलिए जानते हैं, हमें किस-किस चीज़ से आयोडीन कितनी मात्रा में मिल सकता है।

कितनी मात्रा में किसमें मिलेगा आयोडीन?

  • कोड़ मछली 3 औंस- 99 माइक्रोग्राम
  • ¾ कप दही- 58 माइक्रोग्राम
  • कॉटेज चीज़, 1 cup — 65 mcg
  • पका और छिला हुआ आलू- 60 माइक्रोग्राम
  • एक कप गाय का दूध- 56 माइक्रोग्राम
  • ½ कप पकी हुई नेवी बीन्स- 32 माइक्रोग्राम

इनके अलावा, भी बहुत से ऐसे आहार होते हैं, जैसे नमक जिनसे महिला को आयोडीन मिल सकता है। महिला को आयोडीन की पर्याप्त मात्रा रोजाना लेनी चाहिए। क्यों की सर्फ़ इतना ही नहीं है की आयोडीन की कमी से आपके बच्चे एक मस्तिष्क का विकास पूरी तरह से नहीं हो पता, बल्कि इसके कारण, समय से पूर्व जन्म और गर्भपात की समस्या भी हो सकती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !