लहसुन के दुष्प्रभाव

भाषा चयन करे

20th May, 2017

kya Lahsun nuksandayak hai? | क्या लहसुन नुकसानदायक है? | Is Garlic Harmful? लहसुन बहुत से स्वास्थ्य गुणों से भरपूर प्राकर्तिक हर्ब है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यहाँ तक यह एक प्राकर्तिक जीवाणुनाशक (एंटीबायोटिक) है। लहसुन की प्रकति गर्म होती है और इसीलिए इसे सर्दियों में बेहद फायदेमंद आहार माना जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सर्दियों में शरीर के संक्रमित होने और सर्दी-जुकाम की आशंकाएं बहुत ज्यादा होती हैं। ऐसे में लहसुन का प्रयोग, जीवाणु नाशक और गर्माहट दोनों के लिए किया जाता है। इतने फायदों के बावजूद हमें लहसुन का प्रयोग संभल कर करना चाहिए। दरअसल लहसुन नहीं बल्कि लहसुन की जरूरत से ज्यादा मात्रा का सेवन हमारे लिए नुकसानदायक होता है।

Image Source

लहसुन जिसे बहुत सी बिमारियों में प्राकर्तिक हर्ब के रूप में प्रयोग किया जाता है, इसके सबसे आम दुष्प्रभाव सांसों में लहसुन की महक, पेट में गैस, मतली, उल्टी और शारीरिक गंध और दस्त के रूप में सामने आते हैं। हालाँकि सब्जी के साथ पका कर खाने से इनमें से ज्यादातर समस्याएं नहीं होती। समस्या तब आती है, जब इसे कच्चा खाया जाता है।

ऊपर दी गई आम समस्याओं के अलावा, लहसुन के कुछ दुष्प्रभाव निम्न तरीकों से नज़र आ सकते हैं-

  • लहसुन रक्त को पतला कर देता है और थक्का नहीं बनने देता। ऐसे में यदि किसी को चोट या रक्त स्त्राव हो रहा हो तो लहसुन के प्रयोग से उसकी समस्या और बढ़ सकती है। खास तौर पर जिन लोगों ने सर्जरी या ऑपरेशन कराया हो उन्हें इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • लहसुन का प्रयोग अस्थमा के रोगियों को नहीं करना चाहिए। इससे उनकी समस्या और बढ़ सकती है। क्योंकि लहसुन से एलर्जिक रिएक्शन हो सकता है।
  • त्वचा पर कहीं संक्रमण होने पर लहसुन का प्रयोग किया जाता है, लेकिन यदि इसे ज्यादा देर तक त्वचा पर छोड़ दिया जाए तो इसकी एसिडिक प्रॉपर्टी समस्या को और ज्यादा घातक बना सकती है।
  • गर्भावस्था के शुरुआती समय में लहसुन का प्रयोग बेहद कम करना चाहिए, क्योंकि इसकी प्रकृति गर्म होती है। खास तौर पर, कच्चे लहसुन का प्रयोग तो बिलकुल नहीं करना चाहिए।
  • वह महिलाएं जो बच्चों को दूध पिलाती हों, उन्हें भी कच्चे लहसुन का या ज्यादा मात्रा में पकाकर भी प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  • किसी भी समस्या के लिए लहसुन का प्रयोग ज्यादा मात्रा में बिलकुल नहीं करना चाहिए। खास और पर बच्चों के लिए तो बिना जानकारी के बिलकुल प्रयोग न करें।
  • लहसुन कभी-कभी पेट की समस्याओं को भी पैदा कर सकता है। उदाहरण के तौर पर, यदि किसी को जठरांत्र (गैस्ट्रोइंटेस्टिनल) की समस्या हो तो लहसुन उसकी समस्या को और भी बढ़ सकता है।
  • जहाँ एक और लहसुन बढे हुए रक्त चाप में फायदेमंद है, वहीं दूसरी और रक्तचाप कम होने पर यह नुकसानदायक भी हो सकता है। यदि किसी व्यक्ति का रक्तचाप पहले से ही कम है तो लहसुन के प्रयोग से उसका रक्तचाप और भी कम हो सकता है।

 



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !