स्ट्रोक को बढ़ावा देने वाले जोखिम कारक

भाषा चयन करे

25th June, 2017

Stroke kyun hota hai? | स्ट्रोक क्यों होता है? | Why stroke occurs? स्ट्रोक, यानी जिस तरह हृदय आघात होता है, उसी तरह मस्तिष्क को जो आघात लगता है, उसे स्ट्रोक कहा जाता है। अभी तक यह माना जाता रहा है, कि यह समस्या, सिर्फ बुजुर्गों को ही होती है और बेहद कम मामलों में देखने को मिलती है; लेकिन पिछले कुछ वर्षों से इस समस्या के ऐसे मामले देखने को मिल रहे हैं, जो न तो वृद्धों से सम्बंधित हैं, और न ही इस बात का प्रमाण है कि यह समस्या बहुत कम लोगों में देखने को मिलती है।

Image Source

इसके पीछे क्या कारण हो सकता है? पिछले कुछ वर्षों में ऐसा क्या हो गया है, जिससे स्ट्रोक के मामले इतने बढ़ गए हैं? जहाँ तक हमारा मानना है कि दिन-प्रतिदिन, जो बदलाव हो रहें हैं, वह है हमारे जीवन-जीने के ढंग में। अब स्वास्थ्य का महत्व कम और भागम-भाग में आगे निकलने की जिद ज्यादा हो गई है। इससे बिमारियों को शरीर में जड़े ज़माने का मौक़ा भी बहुत मिल रहा है। चलिए देखते है, हमारी जीवन-शैली की कौन-कौन सी गलतियाँ या अन्य परिस्थितयां किस प्रकार से स्ट्रोक के मामलों में इजाफ़ा कर रही हैं।

स्ट्रोक के जोखिम कराक-

  • खान-पान में लापरवाही, ज्यादा चिकनाई-युक्त आहार, पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्वों को न ले पाना।
  • बढ़ता मोटापा और कोलेस्ट्रॉल की समस्या।
  • शराब का सेवन और धूम्रपान की आदत।
  • शारीरिक तौर पर, पहले के मुकाबले कम सक्रियता।
  • तनाव और रक्त चाप की लगातार रहने वाली समस्या इसके सबसे बड़े (खास तौर पर, ब्रेन हेमरेज) कारणों में से एक है।
  • मधुमेह की समस्या में भी स्ट्रोक की आशंका बढ़ जाती है।
  • यदि किसी व्यक्ति को स्लीप एप्निया की समस्या हो तो। इस समस्या में, रात को शरीर में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है।
  • यदि किसी को पहले से ही हृदय रोग हो तो।
  • यदि किसी के परिवार में पहले भी किसी को यह समस्या हुई हो तो।
  • 55 और इससे ज्यादा उम्र के व्यक्तियों में स्ट्रोक होने की आशंका और भी ज्यादा होती है।
  • महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में स्ट्रोक होने की आशंका ज्यादा होती है। साथ ही स्ट्रोक की समस्या कम उम्र के बजाय ज्यादा उम्र में होती है, और उनके बचने की संभावना भी उस वक्त कम होती है।
  • महिलाओं के लिए गर्भ-निरोधक गोलियां भी स्ट्रोक की आशंका को बढ़ा देती है।
  • साथ ही एस्ट्रोजन थेरेपी से भी स्ट्रोक की आशंका बढ़ जाती है।

इनके अलावा, उन दवाओं का प्रयोग, जिन्हें सरकार द्वारा प्रतिबंधित कर दिया हो, नहीं करना चाहिए, क्योंकि इनके सेवन से भी स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !