बोन ट्यूमर के लक्षण

भाषा चयन करे

26th May, 2016

Bone tumor ke karak kya hain? | बोन ट्यूमर के कारक क्या है? | What are the causes of bone tumor?बोन ट्यूमर एक ऐसी बिमारी है, शुरुआत में जिससे कोई परेशानी नहीं होती और धीरे-धीरे इसके लक्षण नजर आने शुरू होते हैं। हालाँकि व्यक्ति को कुछ मामलों में, इसके दौरान हड्डियों में दर्द होता है, लेकिन उसे व्यक्ति आम शरीर दर्द समझ कर नजरअंदाज कर देता है। इसके बाद धीरे-धीरे जैसे-जैसे समस्या बढ़ती है, इसके लक्षण भी उभर कर सामने आना शुरू हो जाते हैं। इसके आम लक्षणों में, हड्डियों में दर्द, रात को पसीना आना, बुखार और हड्डियों के आस-पास सूजन होती है।

Image Source

जब इस तरह के लक्षणों के लिए मरीज डॉक्टर के पास जाता है, तो डॉक्टर बोन ट्यूमर के लक्षणों के साथ-साथ, अन्य समस्याओं का पता लगाने के लिए एक्स -रे करते हैं। इसके जरिए, डॉक्टर ट्यूमर के साथ-साथ पैर में मोच जैसी समस्या को भी देखते हैं।

बोन ट्यूमर के ऐसे लक्षण, जिनके जरिये डॉक्टर मरीज में बोन ट्यूमर का अंदाजा लगा कर जांच करने का निर्णय लेते हैं-

  • ट्यूमर के क्षेत्र में दर्द का होना
  • हमेशा सुस्ती सा महसूस होना
  • गतिविधि के दौरान बदतर महसूस होना
  • रात में नींद की समस्या

किसी भी प्रकार की चोट हड्डी के ट्यूमर का कारण नहीं होता, लेकिन यदि कोई हड्डी, ट्यूमर के कारण कमजोर हो गई हो, और जिसके आसानी से टूटने की संभावना हो, और उसमें गम्भीर दर्द रहता हो तो वह कैंसर से भी आसानी से गृसित हो सकती है।

इसके अलावा, कुछ ऐसे कारक भी हैं जो बोन ट्यूमर को जन्म दे सकते हैं

जैसे:-

  • बुखार
  • रात को पसीना आना
  • हड्डी के आसपास असामान्य सूजन की समस्या
  • लंग़डेपन की स्थिति

यदि किसी व्यक्ति को बोन ट्यूमर है, तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। ऐसे में डॉक्टर लक्षण और चिकित्सा इतिहास के बारे में कुछ सवाल पूछ सकते हैं, और इसी आधार पर शारीरिक परीक्षण करते हैं। जिसमें रक्त और इमेजिंग परीक्षण की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा डॉक्टर सुई या चीरा के माध्यम से ऊतक को निकाल कर माइक्रोस्कोप के जरिए कैंसर की जाँच करते हैं, इस प्रक्रिया को बायोप्सी कहते हैं।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !