आँखों को घातक नुकसान पहुंचाने वाली चीजों से रहें सावधान

भाषा चयन करे

24th June, 2016

Aankhon ki chot ke liye prathamik ilaj kya hai? | आँखों की चोट के लिए प्राथमिक इलाज क्या है? | What are the primary treatment for eye injuries?आँखों के आस-पास कटने, खरोंच लगने, आंखों में कोई कीड़े के घुसने, किसी चीज या फिर किसी रसायन के संपर्क में आने पर जलने, या कोई नुकीली या तेज वस्तु का आँखों में घुसने इत्यादि से आँखों को हानि हो सकती हैं। चूकि आँखें आसानी से क्षतिग्रस्त हो सकती हैं, इसलिए इनमें से कोई भी स्थिति होने पर दृष्टि की हानि हो सकती है।

Image Source

आँखों की सभी बडी चोटों तथा समस्याओं के लिए चिकित्सकीय सलाह लेना महत्वपूर्ण है। आँखों की कई समस्‍याएं, जो चोट की वजह से नहीं होती, उनके लिए भी चिकित्सकीय देखभाल की आवश्यकता होती है।

आंख में, रसायन जाने के कारण, काम के दौरान, दुर्घटना या आम घरेलू उत्पादों जैसे- घर में सफाई के लिए इस्तेमाल होने वाला घोल, बगीचे में प्रयोग होने वाला रसायन, सॉल्वैंट्स, इत्यादि की वजह से हो सकती है। धुआं एवं एयरोसौल्ज़ भी रासायनिक जलन पैदा कर सकते हैं।

यदि कोई व्यक्ति एसिड से जल जाए तो ऐसे मामलों में कॉर्निया का धुंधलापन अक्सर साफ हो जाता है तथा उसकी ठीक होने की अच्छी सम्भावना होती है। लेकिन क्षारीय पदार्थ- जैसे चूना, नाली की सफाई में इस्तेमाल होने वाला कमर्शियल रसायन और रेफ़्रिजरेटर में पाया जाने वाला सोडियम हायड्रॉक्साइड – कॉर्निया को स्थायी रूप से क्षति पहुंचा सकता है।

कभी-कभी तुरंत उपचार के बावजूद भी, कुछ दिनों के बाद आँखों को नुक्सान हो सकता है।

धूल, बालू, एवं अन्य मलबे के कण, आँखों को नुक्सान पंहुचा सकते हैं। लगातार दर्द एवं आँखों का लाल रहना, इस बात का संकेत हो सकता हैं कि रोगी को देखभाल एवं उपचार की आवश्यकता है। बाहर की कोई भी वस्‍तु, यदि आँखों में चली जाए तो इससे दृष्टि को हानि हो सकती है। इसके द्वारा कॉर्निया या लेंस को भी क्षति हो सकती है। ग्राइंडिंग या धातु पर धातु की हेमरिंग के कारण तेज गति से उड़ती हुई बाह्य वस्‍तु सबसे ज्यादा जोखिम पैदा कर सकती हैं।

आमतौर पर आँखों के आसपास कालें निशान, दुर्घटना के दौरान आंख या चेहरे पर सीधे चोट लगने के कारण होती है। कुछ प्रकार के सिर के चोटों के कारण भी आँखें कमजोर हो जाती है। इस कारण अक्सर पलक और आंख के आसपास के ऊतक में सूजन भी हो सकती है। कभी-कभी, सूजे हुए ऊतक के दबाव से आंखों को गंभीर क्षति होती है। आंखों के अंदर रक्त स्राव,  दृष्टि को कम कर सकता है, कांचबिंदु कर सकता है या कॉर्निया को भी क्षति पहुंचा सकता हैं।

आँखों की चोट के लिए प्राथमिक इलाज- यदि किसी कारण से आँखों में चोट लग जाए तो सबसे पहले अपनी आँखों को रगड़ें नहीं और न ही अपनी आँखों में कुछ डालें, इससे समस्या और बढ़ जाती है। आंख को स्वच्छ एवं ठंडा पानी से धोयें। आंख पर बर्फ का टुकड़ा भी रख सकते हैं और जितनी जल्दी हो डॉक्टर से संपर्क करें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !