वायरल हेपेटाइटिस का दवाइयों द्वारा उपचार

भाषा चयन करे

10th December, 2015

Viral Hepatitis ke liye Dawayein | वायरल हेपेटाइटिस के लिए दवाएं | Medicines for Viral Hepatitis

वायरल हेपेटाइटिस के लिए उपचार, इस बात पर निर्भर करता है कि इसका प्रकार कौन सा है, और इसकी स्टेज कौन सी है। पिछले कुछ वर्षों में हेपेटाइटिस-A और B का इलाज बेहद अच्छे से किया जा रहा है। वहीं इनके और बेहतर उपचारों के लिए, दिन-प्रति-दिन नई-नई खोजें भी होती रहती हैं।

Image Source

यदि, हेपेटाइटिस अपनी प्रारंभिक अवस्था में है, तो आपका घरेलू डॉक्टर भी इसका उपचार कर सकता है। लेकिन यदि यह घातक स्थिति में पहुंच गया है, तो इसके लिए आपको हेपटोलॉजिस्ट और गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट या किसी ऐसे स्पेशलिस्ट की आवश्यकता पड़ती है, जो लिवर की बिमारियों में विशेषज्ञता रखता हो। जब तक कि आप पूरी तरह से खाने और पीने में असमर्थ न हो जाएं आपको अस्पताल में भर्ती नहीं किया जाता।

कभी-कभी डॉक्टर हेपेटाइटिस के कुछ प्रकारों के लिए, ड्रग थेरेपी की सलाह भी देते हैं। हेपेटाइटिस-B के लिए जो दवाइयाँ दी जाती हैं, उनमे एडेफोवीर adefovir (Hepsera-हेप्सेरा), इन्टेकवीर entecavir (Baraclude-बरक्लूड),  इंटरफेरॉन interferon, lamivudine लमिवुडीन (Epivir-एपीवीर), पेजइंटरफेरोन peginterferon, टेलबीवूडीन telbivudine (Tyzeka), और टेनोफोविर tenofovir (Viread-विरेड) दवाइयाँ होती हैं।

हाल ही में, पेगेइंटरफेरोन प्लस रिबाविरिन को क्रोनिक-C हेपेटाइटिस में, जीनोटाइप 2 और 3 प्रकार के रोगियों और प्रोटीज इन्हीबिटर (बोसप्रेविर boceprevir (Victrelis-विक्ट्रेलिस) या टेलप्रेविर telaprevir (Incivek-इनसिवेक) के साथ मिलाकर दी जा रही थी, और यह एक स्टैण्डर्ड (मानक) उपचार था। इसे यह ट्रीटमेंट 50% से 80% ऐसे लोगों में प्रभावी पाया गया है, जिन्हें, हेपेटाइटिस-C प्रकार का संक्रमण था।

हाल ही में भी, दो नई एक्टिंग एंटीवायरल दवाइयों, सिमेपरवीर simeprevir (Olysio-ओलेसियो) और सोफोसबुवीर sofosbuvir (Sovaldi-सोवाल्डी) को भी एफ.डी.ए द्वारा HCV संक्रमण के लिए मान्यता दे दी गई है। जब इन्हें HCV संक्रमण के मरीजों पर प्रयोग किया गया, तो यह दवाइयाँ 80% से 95% तक प्रभावी पाई गई। Sofosbuvir (Sovaldi) ऐसे प्रोटीन को ब्लॉक कर देती हैं, जिसके कारण C वायरस को बढ़ावा मिलता है। इसे HCV जीनोटाइप 2 और 3 के से संक्रमित व्यक्ति को, पेजलेटिड इंटरफेरॉन pegylated interferon और रिबाविरिन ribavirin के साथ लेने की अनुमति दी गई है। वहीं वयस्कों को इसे, HCV जीनोटाइप 2 एयर 3 प्रकार के संक्रमण में, भी दिया जाता है। वहीं ऐसा पहली बार हो रहा है, जब इंटरफेरॉन-फ्री रिजाइम को क्रोनिक हेपेटाइटिस C के लिए प्रयोग किया जा रहा है। Imeprevir (Olysio), भी ऐसी दवाई होती है, जो हेपेटाइटिस-C सी वायरस को बढ़ावा देने वाले प्रोटीन को ब्लॉक कर देती है। लेकिन इसे, peginterferon-alfa और ribavirin के साथ जीनोटाइप 1 प्रकार के संक्रमण में ही दिया जाता है।

हार्वोनी Harvoni (sofosbuvir-सोफोसबुवीर, ledipasvir-लेडीपस्विर) और विएकिरा पाक Viekira Pak (ombitasvir-ओमबीटेस्वीर, paritaprevir-परिटप्रेविर, dasabuvir-डसबुवीयर, ritonavir-रिटोनवीर) को क्रोनिक HCV जीनोटाइप 1 के लिए अनुमति दी गई है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !