चिकनगुनिया को लाइफस्टाइल से दें मात!

भाषा चयन करे

31st May, 2017

Chikungunya se bachav ke tarike | चिकनगुनिया से बचाव के तरीके | prevention of chikungunya चिकनगुनिया को लाइफस्टाइल से दें मात!

चिकनगुनिया मच्छरों द्वारा फैलाया जाने वाला संक्रमण है। यह कोई घातक या जानलेवा बिमारी नहीं है, लेकिन रोगी को इससे परेशानी बहुत ज्यादा होती है। शरीर पर हफ़्तों तक कब्ज़ा जमाए रखने वाली इस बिमारी के लिए दवाएं या मेडिकल ट्रीटमेंट उपलब्ध ना होने के कारण इसे देखभाल और खान-पान से ही खत्म किया जाता है। यदि किसी व्यक्ति को चिकनगुनिया हो गया है तो उसे इस बिमारी से जल्दी निपटने के लिए नीचे दिए टिप्स पर गौर जरूर करना चाहिए।

Image Source

क्या करें?

एक्सरसाइज करें- जिस तरह हमारे स्वस्थ रहने के लिए खाना-पीना जरूरी है, उसी तरह शारीरिक सक्रियता भी बहुत जरुरी है। यदि आप नियमित एक्सरसाइज करते हैं, तो आप उन लोगों की अपेक्षा कम बीमार पड़ेंगे जो एक्सरसाइज नहीं करते या शारीरिक तौर पर सक्रीय नहीं रहते। चिकनगुनिया होने पर भी एक्सरसाइज जारी रखें। इससे आपकी पाचन क्रिया दुरुस्त रहेगी और शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता में सुधार होगा। साथ ही पसीना निकलने से रोग के विषाणु भी शरीर से बाहर निकल जाएंगे।

सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते चबाएं- तुलसी के पत्ते ना सिर्फ शरीर को ऑक्सीजन प्रदान करते हैं, बल्कि इसमें स्वास्थ्य के लिए जरूरी बहुत से पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं। तुलसी रोग प्रति रोधक क्षमता बढ़ाने का सबसे सरल  उपाय है और संक्रामक बीमारियों से बचने और इनसे लड़ने के लिए हमें मजबूत रोग प्रति रोधक क्षमता की बहुत आवश्यक्ता होती है।

विटामिन सी- विटामिन सी संक्रमण को रोकने और इससे लड़ने की क्षमता बनाए रखने के लिए बहुत जरूरी विटामिन है। यदि हम पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी का सेवन करते हैं तो हमें बीमारियां इतनी आसानी से अपना शिकार नहीं बना सकती। इसलिए निम्बू, संतरे और विटामिन सी से भरपूर अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन करें

आराम करें- अपने मन, मस्तिष्क और शरीर को आराम दें। तनाव, चिंता, अवसाद और थकावट व्यक्ति को शारीरिक और मानसिक तौर पर बीमारों जैसा बना देती है। किसी व्यक्ति का स्वस्थ होने के लिए शांत चित्त और स्फूर्तिवान होना बहुत जरूरी होता है। इसलिए पर्याप्त आराम करें।

हरी पत्तेदार सब्जियां- हरी पत्तेदार सब्जियां, अच्छे स्वास्थ्य के लिए कितनी फायदेमंद हैं, हम सभी जानते हैं। शरीर में किसी भी बिमारी का घुसना बाहरी तत्वों की वजह से कम और शरीर में प्रयाप्त मात्रा में पोषक तत्वों की कमी होना ज्यादा होता है। यह पोषक तत्व आपको हरी सब्जियों, फलों और सलाद में भरपूर मात्रा में मिल सकते हैं। जितना हो सके हरी सब्जियों का सेवन करें।
मसाज (मालिश)- चिकनगुनिया में शरीर और जोड़ों में बहुत दर्द होता है और मालिश शरीर में दर्द से राहत का बहुत अच्छा उपाय है। चिकनगुनिया से होने वाले बदन और जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए एक्यूप्रैशर और मसाज कराएं।

जोड़ों की ठंडी सिकाई करें- चिकनगुनिया से होने वाले जोड़ों में दर्द से राहत के लिए उनकी ठंडी सिकाई करें। इससे दर्द में बहुत आराम मिलेगा।

खूब सारा तरल लें- खूब सरे तरल, पानी, जूस और सूप लें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !