चिकनगुनिया में फायदेमंद घरेलू औषधियां

भाषा चयन करे

31st May, 2017

Chikungunya mein faydemand Aushadhiya kya hain? | चिकनगुनिया में फायदेमंद औषधि क्या हैं? | What is the home remedies for chikungunyaचिकनगुनिया, डेंगू के जैसा ही बुखार है। इसकी पहचान यह है कि इसमें जोड़ों में तेज़ दर्द होता है। यह बुखार अचानक से तेजी से चढ़ता है और साथ-साथ जोड़ों में दर्द भी होने लगता है। क्योंकि यह भी एक संक्रामक रोग है, तो इसमें भी प्लेटलेट की संख्या कम हो सकती है। इसलिए चिकनगुनिया के रोगियों को भी पपीते की पत्तियों के जूस का सेवन जरूर करना चाहिए।

Image Source

यदि चिकनगुनिया के इलाज की बात है, तो क्योंकि चिकनगुनिया मच्छर के द्वारा फैलाया जाने वाला संक्रमण है, इसके लिए औषधियां भी संक्रमण विरोधी ही होनी चाहियें।  

चिकन से निजात पाने के लिए घरेलू औषधियां

जोड़ों के दर्द के लिए-

  • लहसुन का पेस्ट बना कर उसे जोड़ों के दर्द वाले स्थान पर लगाएं, इससे जोड़ों के दर्द में आराम मिलेगा
  • गुनगुने पानी में नमक ड़ालकर सिकाई करें इससे भी आपको आराम मिलेगा
  • जोड़ों की ठंडी सिकाई करते रहें
  • नारियल तेल से मालिश करें

चिकनगुनिया में राहत पाने के लिए

  • एक गिलास पानी को कुछ समय तक उबालें, फिर उसमें एक चम्मच अजवाइन, 2-3 नीम की कोमल पत्तियां, 4-5 किशमिश, 8-10 पत्ते तुलसी के डाल कर इसे फिर से उबालें। उबाल कर बिना छाने ठंडा कर के इसे ग्रैंड कर लें और घूँट-घूँट कर के पियें। ग्राइंड नहीं करना हो तो ऐसे भी पी सकते हैं। साथ ही इसमें पड़ी सभी चीजों को चबा-चबा कर खा लें। दिन में हर एक आहार के आधे घंटे बाद इस औषधि का सेवन करें।
  • नारियल पानी पियें- नारियल पानी न सिर्फ शरीर से संक्रमण को खत्म करेगा बल्कि यह बहुत से विटामिन्स और मिनरल्स भी प्रदान करेगा।
  • गाजर खाएं- चिकन गुनिया में गाजर का सेवन बहुत फदयेमंद होता है इसलिए गाजर का सूप, सलाद और सब्जी खाएं।  
  • हल्दी- रात को सोने से पहले गुनगुने गाय के दूध के साथ छोटी चम्मच हल्दी का सेवन करें। यह न सिर्फ शरीर को रोगों से लड़ने में मदद करेगी, बल्कि शरीर एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टी के चलते संक्रमण को खत्म करने का कार्य भी करेगी।
  • तुलसी- सुबह में तुलसी के पत्ते खाली पेट चबाएं- इससे रोग प्रति रोधक क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी और
  • तुलसी और अजवाइन- तुलसी की 10-20 पत्तियां और दो चम्मच अजवाइन दो-तीन गिलास पानी में उबाल कर रख लें थोड़ी-थोड़ी देर में इसे गुनगुना कर पीते रहें।
  • दूध और किशमिश- गाय के दूध में किशमिश उबाल कर पिने से बहुत चिकन गुनिया में आराम मिलता है।
  • किशमिश- किशमिश को तकिये के नीचे रख लें और एक-एक कर के थोड़े-थोड़े अंतराल पर मुंह में डालते रहें। इससे शरीर को ऊर्जा, और रोगों से लड़ने की शक्ति मिलेगी, जिससे आप बहुत जल्दी इस रोग से निजात पा सकेंगे।

 



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !