नोरोवायरस से असावधानी दे सकती है आहार विषाक्तता को जन्म!

भाषा चयन करे

25th June, 2017

Mujhe Ualti aur Dasth kyo ho rhe rhe hein? । मुझे उल्टी और दस्त क्यों हो रहे हैं?। Why am I getting vomiting and diarrhea?नोरोवायरस, बेहद तेजी से फैलने वाले संक्रमण को जन्म देने वाला वह घातक विषाणु है, जो व्यक्ति के शरीर में  प्रवेश कर उसे उल्टी और दस्त यानी, आहार विषाक्तता और डायरिया जैसी समस्याओं को जन्म दे सकता है। नोरोवायरस, जिसे शुरुआत में, नोरवॉक के नाम से जाना जाता था, साल भर में कभी भी और किसी भी उम्र के व्यक्ति और बच्चे को अपना शिकार बना सकता है। इस वायरस के पनपने का सबसे मुख्य स्थान होता है गंदगी।

Image Source

हर वह वस्तु, जो गंदी हो, उसके छूने और फिर उन्हीं हाथों से किसी भी चीज के खाने से यह विषाणु शरीर में पहुँच जाता है और फिर व्यक्ति को गंभीर रूप से उल्टी और दस्त का शिकार बना देता है। चलिए जानते हैं, किन-किन कारणों से फ़ैल सकता है नोरोवायरस का संक्रमण?

कैसे फैलता है नोरोवायरस संक्रमण?

  • नोरोवायरस का संक्रमण, दूषित जगहों को छूने और फिर बिना हाथों को अच्छी तरह साबुन से धोए कुछ भी खाने से शरीर में प्रवेश कर जाता है।
  • जिन फलो और सब्जियों को आप बाजार से ख़रीद कर लाते हैं, उन पर किस-किस प्रकार के विषाणु चिपके होते हैं, इसे तो आप नहीं देख सकते लेकिन उन्हें अच्छे से धो कर उन्हें शरीर में प्रवेश करने से ज़रूर रोक सकते हैं।
  • आहा र यदि साफ़-स्वच्छ तरीके से और हाथों से न बनाया गया हो तो भी नोटोवायरस संक्रमण फ़ैल सकता है। इसलिए खाना बनाते समय हमेशा साफ़ और सफाई का ख़ास ख्याल रखें।
  • खाना कभी भी अधपका नहीं छोड़ना चाहिए, वह अच्छे से पका हुआ होना चाहिए। यह बात ख़ास तौर पर, मांस और मच्छी पर लागू होती है। शाकाहारी आहार के मुकाबले, मांसाहारी आहार जो पूरी तरह से पका हुआ न हो उससे यह समस्या और जल्दी होती है।
  • यदि किसी व्यक्ति को पहले से यह संक्रमण हुआ हो तो उस व्यक्ति से भी यह संक्रमण अन्य व्यक्तयों को हो सकता है। संक्रमित व्यक्ति के साथ खाना खाने उसकी छुई हुई चीजों को छूने से भी यह संक्रमण फ़ैल सकता है।
  • खास तौर पर, सार्वजानिक स्थानों पर। यह संक्रमण साँसों के माध्यम से भी शरीर में प्रवेश कर सकता है।
  • स्कूल में संक्रमित बच्चों से अन्य बच्चों को भी यह समस्या हो सकती है।
  • रेस्टोरेंट्स, डे केयर और नर्सिग होम में भी यह समस्या एक से दूसरे को होने की आशंका ज्यादा होती है।

क्योंकि इस संक्रमण का सबसे मुख्य कारण, वायरस होता है, इसलिए इससे बचाव के लिए, साफ-सफाई का ख़ास-ख्याल रखा जाना भी बहुत जरूरी होता है। साथ ही यह वायरस भी कई प्रकार का होता है और इसके प्रकारों के आधार पर ही इससे बचाव ही किया जाता है। किसी एक वायरस से बचाव सभी प्रकार के नोरोवायरस के संक्रमण को नहीं रोक सकता।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !