स्वाइन फ्लू- आप की जिम्मेदारी

भाषा चयन करे

9th October, 2015

Swine Flu se Bachane ke liye Barate Savdhani | स्वाइन फ्लू से बचने के लिए बरतें सावधानी | Precaution to be Taken to Avoid Swine Flu स्वाइन फ्लू के संक्रमण से बचने और दूसरों को बचाने के लिए हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है। इस तरह से न सिर्फ आप खुद को बचा सकतें हैं, बल्कि दूसरों को भी इस बिमारी का ग्रास बनने से रोक सकतें हैं।

Image Source

जिन लोगों को स्वाइन फ्लू नहीं है, उनके लिए यह जरूरी है कि वह इसकी उचित जानकारी हासिल करें और इस से बचाव के सभी तरीकें अपनाएं। वहीं जो लोग इस से ग्रसित हो चुकें हैं, या जिन लोगों में इस तरह के लक्षण नजर आ रहें हैं, उनके लिए यह बेहतर होगा कि वह अपने साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा का ध्यान भी रखें।

जिन लोगों को स्वाइन फ्लू है, या उन्हें इस तरह के लक्षण नजर आ रहें हैं, तो उनके लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी है।

जैसे:-

  • यदि आपको सर्दी, खांसी जुक़ाम जैसी समस्याएं नजर आ रहीं हैं तो हमेशा खांसते और छींकते समय मुंह पर टिस्स्यु पेपर या रुमाल रखें।
  • यदि आपकी सर्दी खांसी जुकाम एक दो दिन में ठीक नही हो रहें हैं, या आपको इनके साथ कुछ और भी परेशानियां जैसे बुखार आ रहा है, तो डॉक्टर के पास जाकर अपनी जाँच करवाएं।
  • यदि जाँच के दौरान आपको स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि हो जाती है, तो ऑफिस न जाएं।
  • यहाँ तक कि घर से बाहर न जाएं, क्योंकि ऐसा करने से यह वायरस आपके साथ-साथ दूसरों को भी बीमार बना सकता है।
  • इस दौरान ज्यादातर अपना मुँह ढक कर ही रखें।
  • घर पर भी अपने घर के बाकी सदस्यों को यह बीमारी न लगे इसका खास ध्यान रखें।
  • अपने चेहरे, आँखों और नाक को न छुएं। क्योंकि यदि इनके बाद अपने मोबाईल या अन्य चीजों को छुएंगे तो इस से यह बिमारी दूसरों तक भी फ़ैल सकती है।

स्वाइन फ्लू को खुद पर न होने दे हावी

स्वाइन फ्लु से बचने के लिए सबसे पहली शर्त है, आपकी जागरूकता। इस बिमारी के बारे में उचित जानकारी और बचाव के तरीकों का ज्ञान। बिमारी की घातकता को देखते हुए अब चिकित्सा जगत में इसके टिके भी उपलब्ध हैं। इसीलिए इसके शिकार बनने से पहले ही इसका टिका लगवाना भी है।

इसके अलावा भी आपको रोजाना की दिनचर्या में सतर्क रहना होगा। क्योंकि यह एक ऐसी बिमारी है, जो छूने, छींकने और खांसने से भी हवा के द्वारा फैलती है।

क्या करें?

  • आस-पास साफ़ सफाई का ख्याल रखें। अपने हाथों को बार-बार एण्टीबैक्टिरियल हैण्ड वॉश से धोते रहें।
  • सार्वजानिक स्थानों, खासकर जहाँ स्वाइन फ्लू का प्रकोप हो, जाने से बचें। यदि जरुरी हो तो, मुंह और नाक ढक कर जाएं।
  • यदि तबियत ठीक न लग रही हो, या सर्दी जैसे लक्षण नजर आ रहें हों, तो बेहतर होगा कि आप घर पर ही रहें।
  • यदि बुखार, भूख न लगना, चक्कर आना सिर दर्द और बदन दर्द जैसे लक्षण नजर आएं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।
  • पानी हमेशा उबाल कर ही पियें।
  • स्वाइन फ्लू के मरीज से दूर रहें। उस से बात करते समय अपना मुँह और नाक ढक कर रखें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !