ब्रूसीलोसिस संक्रमण के लक्षण और जोखिम

भाषा चयन करे

29th March, 2016

Manushy men Brucellosis Sankraman ke Lakshan | मनुष्य में ब्रूसीलोसिस संक्रमण के लक्षण| Signs and Symptoms of Brucellosisब्रूसीलोसिस एक ज़ूनोटिक संक्रमण है। यह ब्रूसेला बैक्टीरिया द्वारा होता है। ब्रूसीलोसिस कुछ जानवर की प्रजातियों से मनुष्यों में फैलता है। ब्रूसीलोसिस के लक्षण फ्लू के लक्षणों से मिलते-जुलते होते हैं। जिनसे शुरुआती चरणो में संक्रमण को पहचानने में समस्या और भ्रम की स्थिति होती है।

Image Source

ज़ूनोटिक संक्रमण के लक्षण-

  • बुखार (जो दोपहर के समय तेज़ी से चढ़ता है)
  • कमर दर्द
  • शरीर में ऐंठन और दर्द
  • भूख में कमी और वज़न का घटना
  • सरदर्द
  • रात में और सोते समय अधिक पसीना आना
  • कमज़ोरी

बैक्टीरिया के संपर्क में आने के पांच से तीस दिनों, बाद तक लक्षण दिखने लगते हैं। लक्षणों की तीव्रता और उनसे होने वाली समस्याएं उस ब्रूसेला के प्रकार पर निर्भर करती हैं, जिससे व्यक्ति संक्रमित हुआ है।  

  • ब्रूसेला अबोर्टस से हल्के और मध्यम लक्षण दिखते हैं, पर इनके लंबे समय तक चलने की संभावना अधिक होती है।
  • ब्रूसेला कैनीस के लक्षण पीड़ित में आते-जाते रहते हैं। इसके लक्षणों में काफी हद तक बी अबोर्टस से समानता होती है। इसके अलावा बी कैनीस के लक्षणों में उल्टी और दस्त भी होते हैं।
  • ब्रूसेला सुइस विभिन्न अंगो के हिस्से संक्रमित कर सकता है। जिसे एब्सेसेस कहा जाता है।
  • ब्रूसेला मेलिटेंसिस से तीव्र लक्षणों के साथ शारीरिक विकारों का कारण मिलता है।

जोखिम

ब्रूसीलोसिस विकार होने का जोखिम कुछ लोगो के लिए अन्य की तुलना में ज़्यादा होता है। जैसे इस संक्रमण के पुरुषों में होने की संभावना अधिक होती है। महिलाओं और बच्चो में ब्रूसेला बैक्टीरिया संक्रमण के काफी कम मामले होते हैं। फार्म और खेती में लगे लोगों में यह संक्रमण ज़्यादा होता है।  

व्यक्ति को ब्रूसीलोसिस संक्रमण होने का खतरा निम्न स्थितियों में बढ़ जाता है।

  • बैक्टीरिया संक्रमित गाय, बकरी और अन्य जानवरों से प्राप्त बिना पाश्चुरिकृत किये डेयरी उत्पादों का सेवन करने से।
  • अनपाश्चुराइज़ड ग्रामीण चीज़, पनीर के सेवन से।
  • ब्रूसेला प्रभावित क्षेत्रों में जाने से।
  • मीट प्रोसेसिंग इकाई या बूचड़खाने में काम करने वाले लोगो में।
  • फार्म पर काम करने से।

इनके अलावा शिकारियों और जानवरों में ब्रूसेला का टीकाकरण करने वाले वेटेनरी डॉक्टर्स में भी यह जीवाणु संक्रमण फैला सकता है



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !