नोरोवायरस विषाणु से होने वाले संक्रमण के लक्षण

भाषा चयन करे

24th June, 2017

Aahar vishaktta ke lakshan kya hein? | आहार विषाक्तता के लक्षण क्या हैं? | What are the symptoms of food poisoning? विश्वभर में, जो व्यक्ति उल्टी और दस्त (गैस्ट्रोएंटेरिटिसिस) की समस्या से पीड़ित होते हैं, इसके पीछे सबसे मुख्य कारण यह घातक विषाणु ही होता है। आहार-विषाक्तता या उल्टी और दस्त इसी विषाणु के कारण होते हैं। नोरोवायरस का संक्रमण किसी भी व्यक्ति को प्रभावित कर सकता है लेकिन इसका असर छोटे बच्चों पर सबसे तेजी से होता है।

Image Source

जैसे ही संक्रमण का विषाणु व्यक्ति के शरीर में प्रवेश करता है, उसके लगभग 18 घंटों के बाद इसका असर दिखना शुरू हो सकता है। 48 घण्टों के भीतर यह संक्रमण पूरी तरह से व्यक्ति के शरीर को जकड़ लेता है।

नोरोवायरस से संक्रमण होने के बाद रोगी में कुछ इस तरह के लक्षण नजर आते हैं-

  • व्यक्ति के नोरोवायरस संक्रमण से प्रभावित होने के बाद रोगी के पेट में तेज दर्द और ऐंठन होनी शुरू हो जाती है।
  • धीरे-धीरे उसे उल्टियां और दस्त शुरू हो जाते हैं।
  • व्यक्ति को लगातार उल्टियां आने से और दस्त होने से उसमें पानी और अन्य पोषक तत्वों की कमी होने गलती है और व्यक्ति को कमज़ोरी हो जाती है।
  • रोगी को हल्का बुखार हो जाता है।
  • सिर, बदन और शरीर में दर्द होने लगता है।
  • कभी-कभी तो रोग इस हद तक बढ़ जाता है कि रोगी को चक्कर आने लगते हैं।

हालाँकि आहार-विषाक्तता कोई गंभीर समस्या नहीं होती लेकिन किसी भी व्यक्ति या बच्चे में इस तरह के लक्षण आए तो, अनदेखी नहीं की जानी चाहिए। क्योंकि किसी बिमारी का घातक होना या न होना उसकी देख-रेख पर भी निर्भर करता है।

हालाँकि शरीर में किसी भी प्रकार के संक्रमण का इलाज डॉक्टर एंटीबायोटिक दवाओं के द्वारा करते हैं, लेकिन नोरोवायरस पर एंटीबायोटिक दवाओं का असर नही होता और यह विषाणु इन दवाओं से नहीं मरते। यह विषाणु दो से तीन दिनों में खुद-ब-खुद खत्म हो जाते हैं। हाँ इस दौरान, रोगी को खूब सारे तरल और पोषक तत्वों की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !