दाद के लक्षण

भाषा चयन करे

23rd June, 2016

Kaise jaanein ki yah daad hai? | कैसे जानें की यह दाद है? | How to know about Ringworm?दाद, जिसमें व्यक्ति के शरीर पर लाल रंग के चकते हो जाते हैं और इसमें कभी-कभी तेज खुजली होती है। यह एक ऐसी समस्या होती है, जो विशेष प्रकार के फंगस (कवक) के कारण फैलती है और संक्रामक होती है। हालाँकि यह समस्या घातक नहीं होती, लेकिन यदि इसे समय पर उपचार न मिले तो यह शरीर के अन्य हिस्सों पर भी फ़ैल सकती है। साथ ही इसके बढ़ने के साथ-साथ इसमें खुजली और जलन होना भी शुरू हो जाती है।

Image Source

हालाँकि त्वचा का संक्रमण और भी कई प्रकार का होता है, जिसमें से कभी-कभी दाद को अलग कर पाना मुश्किल भी होता है। ऐसे में, इसे इसके सबसे मुख्य लक्षण, यानी इसके गोल आकार से पहचाना जाता है। हालाँकि कभी-कभी, यह बिना किसी खास आकार के भी त्वचा पर पनप सकता है।

ऐसे में निम्न लक्षणों के आधार पर दाद को पहचाना जा सकता है-

  • दाद के स्थान पर त्वचा नम या सख्त कोई भी हो सकती है।
  • यह चकते के रूप में हो सकता है। चकते के बीच वाला हिस्सा साफ़ होता है और इसके आस-पास गोल आकृति बनी होती है।  
  • छाले के रूप में हो सकता है।
  • यह लाल रंग के थक्के या उभार के रूप में भी हो सकता है।
  • दाद के स्थान पर त्वचा छिली हुई नजर आती है, और उसमें खुजली होती है। खास तौर पर यदि यह पैर पर हो तो इसके दाद होने की सम्भावना और भी बढ़ जाती है।
  • पैरों के अलावा, यह कमर, बगल टांगों और पेट पर भी लाल चकतों के रूप में पनप सकता है।   

चेहरे की त्वचा पर दाद के कुछ लक्षण

  • यह त्वचा या कान पर लाल चकतों के रूप में दिख सकता है।
  • लाल चकतों के किनारों पर एक लाल रंग का बॉर्डर (किनारा) भी हो सकता है।
  • सूर्य की रौशनी में यह परेशानी और ज्यादा बढ़ जाती है।

शरीर के नम हिस्सों पर होने वाले दाद के लक्षण

  • कांख, जांघों, या कूल्हों पर चकते बनना, जो आम तौर पर, अंडकोश की थैली और पुरुष जनन अंग पर नहीं होते। .
  • इन जगहों पर होने वाले दाद थोड़े अलग होते हैं, हालाँकि त्वचा का छीलना, उभार या छाले इन स्थानों के दाद में भी देखे जाते हैं।
  • कभी-कभी इन स्थानों पर भी लाल रंग के गोल आकृति वाले दाद ही दिखते हैं।

हाथों पर होने वाले दाद के लक्षण-

  • हथेलियों पर होने वाले दाद को कभी-कभी एक्जिमा (खुजली) भी समझ लिया जाता है।
  • इसमें, हथेली की त्वचा मोती, सूखी और दागदार हो जाती है। यह लक्षण बिलकुल एथलीटों के पैरों जैसे ही होते हैं। लेकिन यदि यह उँगलियों के बीच में हो तो वहां की त्वचा लाल और नम हो जाती है।
  • यदि यह समस्या हाथ के पीछे वाले हिस्से में हो तो, वहां लाल और खुरदरी त्वचा हो जाती है और त्वचा के किनारे पर उभार भी दिख सकते हैं।
  • दाद से कभी-कभी उँगलियों के नाख़ून भी प्रभावित हो जाते हैं।

वहीं इस बिमारी के लक्षण कभी-कभी दूसरी समस्याओं जैसे एग्जिमा या सोरायसिस से इतने मिलते-जुलते होते हैं कि इनमें भेद कर पाना भी मुश्किल होता है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !