क्या है ब्रूसीलोसिस?

भाषा चयन करे

28th March, 2016

Kya hai Brucellosis Rog? | क्या है ब्रूसीलोसिस रोग? | What is Brucellosis Disease? ब्रूसीलोसिस एक ऐसा संक्रामक रोग है, जो ब्रूसेला नाम के बैक्टीरिया के कारण होता है। यह बैक्टीरिया जानवरो से इंसानो में फैलता है। ब्रूसेला बैक्टीरिया के बहुत से प्रकार होते हैं। बैक्टीरिया के कुछ प्रकार गाय में पाये जाते हैं जबकि अन्य प्रकार कुत्ते, सुअर, भेड़, बकरियों और ऊँट में होते हैं। इसके अलावा कुछ जलीय जीवों (सील, सी लायन) में ब्रूसेला बैक्टीरिया होने के प्रमाण मिले हैं। दुनिया में हर वर्ष 5 लाख से अधिक लोगो को ब्रूसीलोसिस होता है।

Image Source

यह बैक्टीरिया जानवरों से इंसानो में 3 तरह से फैलता है।

  • पशुओ से प्राप्त संक्रमित खाद्य पदार्थ का सेवन करने से
  • संक्रमित पशु से सीधे संपर्क में आने से
  • ब्रूसेला जीवाणु एरोसोल के सांस द्वारा अंदर जाने से

ब्रूसेला जीवाणु सूक्ष्म हवाई इंटरसेल्युलर कोकोबेसिली श्रेणी में आते हैं। यह बैक्टीरिया जानवरो के प्रजनन अंगों में बढ़ते है, जिससे जानवरों में गर्भपात और बांझपन होता है। ब्रूसेला जीवाणु बड़ी संख्या में जानवर के मूत्र, दूध, प्लेसेंटल तरल और अन्य तरल में निकलते हैं। अब तक यह जीवाणु फैलाने वाली मुख्य 8 प्रजातियां चिन्हित की गयी हैं।

इनमे से 4 में इंसानी पैथोजेनिसिटी (मनुष्य को संक्रमित कर नुक्सान पहुँचाने की क्षमता) मध्यम से तीव्र जोखिम वाली होती हैं।

  • ब्रूसेला मेलिनटेंसिस (होस्ट जानवर – भेड़, सबसे अधिक पैथोजेनिसिटी)
  • ब्रूसेला सुइस (होस्ट जानवर – सुअर, अधिक पैथोजेनिसिटी)
  • ब्रूसेला अबोर्टस (होस्ट जानवर – मवेशी, मध्यम पैथोजेनिसिटी)
  • ब्रूसेला केनिस (होस्ट जानवर – कुत्ता, मध्यम पैथोजेनिसिटी)

:जंगली जानवरो से इंसानो को संक्रमण का खतरा सीमित होता है। इसकी वजह जंगली जानवरो से सीमित संपर्क, उनके मांस या दूध का सेवन बहुत कम होना है। हालांकि, पालतू जानवरो, मवेशियों के जंगली जानवरो के संपर्क में आने से संक्रमण फैलने का खतरा होता है। पालतू और खेती, डेयरी में काम आने वाले जानवरो का टीकाकरण ज़रूरी है। यहाँ जीवाणु की पहचान और उसके अनुसार वैक्सीनेशन जानवरों को भविष्य में ब्रूसेला संक्रमण से बचाता है। दूध और अन्य संबंधित उत्पादों का पाश्चुराइज़ेशन करने से डेयरी उत्पादों से फैलने वाले संक्रमण पर रोक लगायी जा सकती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !