डायबिटीज है तो संभलकर करें एल्कोहल का प्रयोग

भाषा चयन करे

19th April, 2016

 Madhumeh me Sharab ka Prayog ke Parinam | मधुमेह में शराब का प्रयोग के परिणाम | Consequences of Alcohol Use in Diabetesआमतौर पर, हमारा शरीर ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के लिए एकत्रित शुगर को निकालता रहता है। लेकिन यदि आपका लीवर एल्कोहल के चयापचय में व्यस्त रहता है, तो शुगर को आपके लीवर के द्वारा उचित प्रतिक्रिया नहीं मिल पाती। इसीलिए एल्कोहल के कारण आपके ब्लड शुगर का लेवल कम हो सकता है, इसका असर आपके एल्कोहल लेने के 24 घंटे बाद तक रहता है।

  • अपने डॉक्टर से ले लें सलाह:- एल्कोहल आपके शरीर में डायबिटीज से जुड़ी परेशानियोँ को बढ़ावा दे सकता है। उदाहरण के तौर पर नसों की कमजोरी और आँखों में बीमारी पैदा कर सकता है। लेकिन यदि आपकी डायबिटीज नियंत्रण में है और आपका डॉक्टर आपको थोड़ी मात्रा में कभी-कभी एल्कोहल लेने की अनुमति दे देता है तो ठीक है। आप एक दिन में बेहद कम मात्रा में लगभग एक ड्रिंक के तौर पर एल्कोहल का प्रयोग कर सकते हैं किसी भी उम्र की महिलाएँ और 65 वर्ष से ज्यादा के पुरुष एक दिन में ले सकते हैँ। मॉडरेट एल्कोहल के तौर पर 65 वर्ष से अधिक के पुरुषों में, और महिलाओं में एक ड्रिंक और 65 वर्ष से कम के पुरुषों में दो ड्रिंक एक दिन में, सामान्य माना जाता है। एक ड्रिंक 12 औंस बियर के बराबर, या 5 औंस वाइन या 1.5 औंस डिस्टिल्ड स्पिरिट्स के बराबर होता है।
  • खाली पेट न करें एल्कोहल का सेवन:- यदि आप इंसुलिन या डायबिटीज के लिए अन्य दवाइयाँ ले रहे हैं, तो एल्कोहल का प्रयोग करने से पहले कुछ खाना न भूलें, यह आपके ब्लड शुगर के लेवल को कम होने से रोक सकता है।
  • सावधानी से चुने ड्रिंक:- लाइट बीयर और सूखी शराब, में दूसरे ड्रिंक्स के बजाय बेहद कम कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट होते हैं। यदि आप मिक्स्ड ड्रिंक्स पसंद करतें हैं, तो आप शर्करा रहित पदार्थों जैसे, डायट सोडा, डायट टॉनिक, क्लब सोडा सेल्ट्ज़र भी ले सकतें हैं। इससे आपके ब्लड शुगर के स्तर पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ता।
  • कैलोरी पर रखें नजर:- एल्कोहल ले रहे हैं, तो इनसे आपको कैलरी भी मिलती है। एल्कोहल का प्रयोग करने से पहले अपने डाइटीशियन या डॉक्टर से एल्कोहल में पाई जाने वाली कैलरी और कार्बोहाइड्रेट की पर्याप्त मात्रा की जानकारी जरुर ले लें और उसे अपने डाइट प्लान में शामिल करें।
  • सोने से पहले चेक करें ब्लड शुगर का लेवल:- आपके अंतिम ड्रिंक के बाद, आपके ब्लड शुगर का लेवल काफी देर के बाद ही सही लेकिन कम हो सकता है। इसीलिए सोने से पहले अपने ब्लड शुगर के लेवल की जांच कर लें। यदि आपका ब्लड शुगर का लेवल 100 से 140 mg/dL (5.6 and 7.8 mmol/L) के बीच नहीं है, तो सोने से पहले अपने ब्लड शुगर के स्तर को सामान्य करने के लिए कोई स्नैक्स खा लें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !