डायबिटीज से होने वाली अन्य समस्याओं से रहें सावधान

भाषा चयन करे

9th October, 2015

Madhumeh ki Jatiltaon ke Sanket aur Lakshan | मधुमेह की जटिलताओं के संकेत और लक्षण | Signs and Symptoms of Diabetes Complicationsडायबिटीज के मरीजों, यदि अपने ब्लड शुगर को नियंत्रित नहीं रख पाते, तो यही बढ़ा हुआ ब्लड शुगर उनके शरीर के हर एक अंग को नुकसान पहुँचाना शुरू कर देता है। इसीलिए डायबिटीज के मरीजों को चाहिए कि वह ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने के साथ-साथ अपने शरीर के अन्य हिस्सों पर भी नजर रखें और उनकी भी जाँच करवाते रहें।

Image Source

डायबिटीज से होने वाली कुछ आम बिमारियाँ-

तंत्रिका क्षति- इस बिमारी को डायबिटिक न्यूरोपैथी भी कहा जाता है। इसके लक्षण स्तब्ध हो जाना, झुनझुनी, जलन और घाव के रूप में नजर आते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात कि यह घाव जल्दी ठीक भी नहीं होते। महिलाओं और पुरुषों में इसके दुष्प्रभाव जननांगों में संक्रमण के रूप में भी देखने को मिल सकतें हैं।

आँखों में होने वाली समस्या- इसे डायबिटिक रेटिनोपैथी (diabetic retinopathy) भी कहा जाता है। इसमें, आखों की छोटी-छोटी रक्त वाहिकाएं नष्ट हो जाती हैं। इसके लक्षण, अचानक से दिखाई देना बंद हो जाना, धुंधली दृष्टि दर्द या आँखों में दबाव और आँखों में धब्बे के रूप में सामने आते हैं।

गुर्दों की खराबी- इसे डायबिटिक नेफ्रोपैथी (diabetic nephropathy) भी कहा जाता है। इसमें गुर्दे कार्य करना बंद कर देते हैं, और इसका ट्रीटमेंट, डायलसिस या किडनी ट्रांसप्लांट के रूप में किया जाता है। इस बिमारी से बचने के लिए, निरंतर रूप से डॉक्टर से अपनी जाँच करवाएं। साल में कम से कम एक बार ब्लड प्रैशर और कम से कम चार बार, यूरिन प्रोटीन (माइक्रोएल्ब्युमिन) की जाँच जरूर करवाएं।

हृदय रोग और स्ट्रोक- यदि आपको डायबिटीज है, तो ये बिमारी भी आपके लिए आम हो जाती है, और आप कभी भी इसके शिकार हो सकतें हैं। इसीलिए बेहतर होगा कि आप अपना ख्याल रखें। यदि डायबिटीज के मरीजों का वजन भी ज्यादा है, और वह धूम्रपान भी करते हैं, तो स्ट्रोक और हृदय रोग होने की संभावनाएं और भी बढ़ जाती हैं। इसीलिए निरंतर रूप से इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लेते रहें और जरुरी जाँचें करवाते रहें।

हालाँकि, यदि आप अपने ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित रहते हैं, आपको इस बात की जानकारी है कि आपको क्या करना है और क्या नहीं करना है, और आप उसी योजना के अनुसार कार्य करतें हैं तो आप निश्चित तौर पर इन सभी बिमारियों से बच सकतें हैं।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !