रीढ़ की हड्डी और कशेरुकाओं का सिटी स्कैन

भाषा चयन करे

6th June, 2016

Kaise kasherukaon ka CT scan padha jata hai? | कैसे कशेरुकाओं का सिटी स्कैन पढ़ा जाता है? | How to read ct scan of the vertebrae?यदि किसी व्यक्ति को रीढ़ की हड्डी और कशेरुकाओं में कोई समस्या हो, तो उसके लिए, उस व्यक्ति का  सिटी स्कैन किया जाता है। इस प्रक्रिया में, रोगी को एक स्लाइड करने वाले टेबल पर लिटा दिया जाता है। फिर यह टेबल स्लाइड होकर, स्कैनर के अंदर जाता है। इस स्कैनर से, एक्स-रे निकलती हैं, और रोगी की अलग-अलग कोणों से तस्वीरें लेती हैं। फिर कंप्यूटर इन सभी तस्वीरों को मिलाकर, एक साथ दिखाता है। जिसे बाद में प्रिंट कर लिया जाता है।

Image Source

कुछ मामलों में, डॉक्टर, रोगी की नसों या रीढ़ की नलिका में एक डाई डाल देते हैं, ताकि पिक्चर और साफ नज़र आ सके। इस डाई का प्रयोग, रक्त के बहाव, ट्यूमर, सूजन और तंत्रिका तंत्र की क्षति का पता लगाने के लिए किया जाता है।

क्यों जरूरी है रीढ़ की हड्डी और कशेरुकाओं का सिटी स्कैन?  

  • रीढ़ की हड्डियों (कशेरुकाओं) की जाँच करने के लिए
  • रीढ़ से सम्बंधित समस्याओं जैसे- ट्यूमर, फ्रैक्चर, विकृति, संक्रमण, या स्पाइनल कैनाल के संकुचन (स्पाइनल स्टेनोसिस) का पता लगाने के लिए
  • स्लिप डिस्क (किसी चोट के कारण रीढ़ की डिस्क का क्षतिग्रस्त होना) का पता लगाने के लिए
  • चोट या ऑस्टियोपोरोसिस के कारण रीढ़ में फ्रैक्चर (कशेरुकाओं का दबना) की जाँच की जाती है।
  • यदि जन्म से ही किसी को रीढ़ की हड्डियों में परेशानी है तो इसका पता लगाने के लिए।
  • सामान्य एक्स-रे में यदि कोई समस्या नज़र आ रही है तो इसकी पुष्टि करने के लिए।
  • रीढ़ की हड्डियों में होने वाली परेशानी से निजात पाने के लिए किये गए स्पाइनल सर्जरी की जाँच करने के लिए।

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !