सिटी स्कैन प्रक्रिया के परिणाम

भाषा चयन करे

23rd June, 2016

Kaise hote hain CT scan prakriya ke parinam? | कैसे होते हैं सिटी स्कैन प्रक्रिया के परिणाम? | How is the Results of CT Scan Procedure?कंप्यूटेड टोमोग्राफी (सिटी स्कैन) एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके द्वारा शरीर के अंदरुनी भागों के विभिन्न कोनों से चित्र लिए जाते हैं। इसमें, एक्स-रे किरणों का इस्तेमाल करके, शरीर के अंदर की संरचनाओं का विस्तृत चित्र प्राप्त किया जाता है। सिटी स्कैन का परिणाम एक से दो दिनों के बीच में आ जाता है।

Image Source

सिटी स्कैन के परिणाम, कुछ इस तरह के हो सकते हैं –

सामान्य परिणाम रोगी के अंगों और रक्त वाहिकाओं का आकार, और स्थान सामान्य हैं। कोई भी रक्त वाहिकायें ब्लॉक नहीं हैं।
शरीर के अंदर कोई भी बाहर की चीज जैसे- मेटल या गिलास नहीं है, रोगी का विकास सामान्य है (कैंसर के केस में), किसी भी प्रकार का संक्रमण और सूजन नही हुआ है।
रोगी के शरीर में रक्तस्त्राव नहीं है और शरीर के किसी भी भाग में तरल पदार्थ नहीं इकट्ठा हुआ है।
असामान्य परिणाम शरीर का कोई अंग बहुत बड़ा या बहुत छोटा, क्षतिग्रस्त और संक्रमित हो सकता है। रोगी के शरीर में अल्सर या फोड़े हो सकते हैं।
शरीर के अंदर कोई भी बाहर की चीज जैसे- मेटल या गिलास पाया जा सकता है।
गुर्दे की पथरी या पित्त में पथरी मौजूद हो सकता हैं
पेट, फेफड़े, अंडाशय, जिगर, मूत्राशय, गुर्दे, अधिवृक्क ग्रंथि और अग्न्याशय में असामान्य विकास जैसे- ट्यूमर होने की सम्भावना हो सकती है।
सिटी स्कैन के द्वारा पल्मोनरी एम्बोलिस्म (फेफड़ें के अंदर तरल पदार्थ का इकट्ठा होना) और संक्रमण का पता चलता है।
धमनीविस्फार हो सकता है।
आंतों या पित्त नलिकाओं में ब्लॉकेज
पेट का सिटीस्कैन करने पर सूजन, पथरी और डाइवरक्युटिलाइटिस (बड़ी आँत में सूजन)  लगाया जाता है।
लिम्फ नोड्स का आकर बढ़ गया हैं।
एक या एक से अधिक रक्त वाहिकायें ब्लॉक हैं।
रोगी के हाथ और पैरों में अतिरिक्त विकास, फ्रैक्चर, संक्रमण और अन्य समस्याएं हो सकती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !