क्यों और कैसे बनता है कान का मैल?

भाषा चयन करे

15th April, 2016

Kyo Banata hai Kaan mein Mail? | क्यों बनता है कान में मैल? | What Causes the Formation of Ear Wax?कान का मैल, जिसे कान का गंधक (Earwax), भी कहा जाता है, कान में पाया जाने वाला एक प्राकृतिक पदार्थ है, जो इयर कैनाल (Earcanal) की रक्षा करता है। यह त्वचा, पसीना, बाल, और कचरे (जैसे- शैम्पू और गंदगी) का मिश्रण होता है, जोकि इयर कैनाल में पायी जाने वाली ग्रंथि (सेरुमिनस ग्लैंड), से निकलने वाले तरल पदार्थ के साथ मिलकर एक कठोर पदार्थ बनाता है। इयर कैनाल अपने आप ही इस वैक्स को साफ़ कर लेता है।

Image Source

कान का गंधक गन्दगी को छानने का काम करता है। यह कान को साफ़ रखता है और इयर कैनाल को संक्रमण से बचाता है। सामान्यतः कान का गंधक अपने आप तरल पदार्थ के रूप में बाहर आ जाता है और कोई भी समस्या उत्पन्न नहीं करता। यह इयर कैनाल के बाहरी भाग में होता है और अपने आप ही बाहर निकल जाता है।

कान का गंधक अलग-अलग रंग का हो सकता है। यह हलके भूरे रंग से लेकर, गाढ़े भूरे रंग और नारंगी रंग का भी होता है। बच्चों में, वयस्कों के मुकाबलें यह कोमल और हल्का होता है। बच्चों में कान का गंधक ज्यादा होता है और जैसे-जैसे वे बड़े होते हैं, यह कम होता चला जाता है।

कान का गंधक मुख्यतः इयर कैनाल के बाहरी, आधें भाग में ही बनता है और जब तक इसे अंदर की तरफ ना धकेला जाये, तब तक यह इयर कैनाल के अंदर के भाग को प्रभावित नहीं करता। यदि आप कान साफ़ करने के लिए रुई, बॉबी पिन, या उंगली से वैक्स को इयर कैनाल के अंदर की तरफ धक्का दे देते हैं, तो यह इयर कैनाल को ब्लॉक कर देता है। इस कारण आप को सुनने में कठिनाई या अन्य समस्याएं जैसे – कान बजना (टिनिटस), सिर घूमना, इत्यादि होने लगती हैं। रुई, उंगली, या फिर किसी अन्य वस्तु से वैक्स को कान के अंदर धकेलने से, यह कान के परदे को भी प्रभावित कर सकता है।

कई कान के गंधक से सम्बंधित समस्यायों का उपचार, घर पर भी संभव है। यदि आपका वैक्स बहुत ज्यादा कठोर हो गया हो और वह निकल न पा रहा हो तो इसके लिए आपको पेशेवर की सहायता लेनी चाहिए।

यदि आपको अपने कान में, नीचें दिए गए लक्षण नज़र आ रहे हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें-

  • यदि आपके कान से पस या रक्त निकल रहा हो।
  • यदि आपको कान बजना या कुछ भरा भरा सा महसूस हो रहा हो।
  • यदि आपको सुनने में परेशानी हो रही हो तो।

यदि आप घर पर ही कान का उपचार कर रहे हैं और आपको नीचें बताये गए लक्षण दिखें तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें-

  • यदि आप घर पर कान का उपचार कर रहे हैं और एक हफ्ते के बाद आपको कानों में दर्द या सुनने में परेशानी हो रही है।
  • यदि आपको कुछ नए लक्षण जैसे- मतली या संतुलन की समस्या हो रही है।

ऊपर बताये लक्षणों में से यदि आपको कोई भी लक्षण दिखें तो बिना देर किये तुरंत ENT (कान, नाक, और गलें) के डॉक्टर से संपर्क करें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !