मैक्यूलर डिजेनरेशन के लिए उपलब्ध उपचार

भाषा चयन करे

25th December, 2017

मैक्यूलर डिजेनरेशन का उपचार | Macular Degeneration ka upchar | Treatment for Macular Degeneration

Macular Degeneration Treatment Image Source

यदि मैक्यूलर डिजेनरेशन या अधः पतन के उपचार की बात की जाए तो चिकित्सा जगत में अभी तक इसका कोई ऐसा इलाज मौजूद नहीं है, जिससे इस रोग को जड़ से खत्म किया जा सके। लेकिन उपचार के जरिये इसकी रोकथाम की जा सकती है, यानी इसकी गति को धीमा किया जा सकता है। किस व्यक्ति की मैक्यूलर डिजेनरेशन की स्थिति क्या है और वह कितना बढ़ चुका है या शुरुआती है, इन्हीं बातों के आधार पर डॉक्टर इस बीमारी का उपचार तय करते हैं।

मैक्यूलर डिजेनरेशन का उपचार निम्न तरीकों से किया जा सकता है-

एंटी-एंजियोजेनिक दवाएं (Anti-Angiogenic Drugs)- डॉक्टर इन दवाओं को आँखों में इंजेक्शन के माध्यम से पहुँचाते हैं। यह दवाएं असामान्य रक्त वाहिकाओं को रिसने और उनके निर्माण को होने से रोकती हैं। इससे रेटिना के नीचे इकट्ठे होने वाले पीले रंग के तरल की प्रक्रिया बंद हो जाती है और रोग आगे बढ़ने से रुक जाता है। यहाँ तक कि कुछ मरीजों में तो इन दवाओं के उपचार के बाद आँखों की रौशनी भी लौट आई। यह इंजेक्शन एक बार नहीं लगाया जाता और इसके लिए नियमित अंतराल पर डॉक्टर के पास जाना होता है।

लेजर थेरेपी (Laser Therapy)- मैक्यूलर डिजेनरेशन का एक उपचार यह भी होता है। इसमें उच्च ऊर्जा लेजर प्रकाश के द्वारा इस बिमारी का इलाज किया जाता है। यह प्रकाश आँखों की उन विकृत रक्त वाहिकाओं को खत्म कर देता है, जो रेटिना के पीछे पीले रंग के द्रव के इकट्ठा होने का कारण बनती हैं।  

फ़ोटोडायनॉमिक लेजर थेरेपी (Photodynamic Laser Therapy)- यह एक ऐसी थेरेपी है, जिसे दो चरणों में पूरा किया जाता है। इस उपचार में कुछ प्रकाश-संवेदनशील दवाओं का प्रयोग कर विकृति रक्त वाहिकाओं को खत्म किया जाता है। पहले इस दवाई को रक्त वाहिकाओं में प्रविष्ट कराया जाता है, जिसे विकृत रक्त वाहिकाओं द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है। इसके बाद उन रक्त वाहिकाओं पर प्रकाश डाल कर उन्हें खत्म कर दिया जाता है।

इन उपचारों के अलावा, पर्याप्त मात्रा में पोषण और नियमित व्यायाम से पूरे स्वास्थ्य समेत आँखों के स्वास्थ्य और उनकी रौशनी को भी बचा कर रखा जा सकता है। धूम्रपान और एल्कोहल का सेवन बंद कर देना चाहिए। इन उपचारों के अलावा, भारत में इसकी रोकथाम आयुर्वेदिक उपचारों के द्वारा भी की जाती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !