बच्चों के कान में संक्रमण के लिए सहायक दवाएं

भाषा चयन करे

20th April, 2016

Bachhon ke Kaan mein Sankraman ki Dawayein | बच्चों के कान में संक्रमण की दवाएं | Ear Infection Medicines for Childrenहालाँकि ज्यादातर माता-पिता बच्चों में कान के संक्रमण में, घरलू उपचारों को ही तरजीह देते हैं, लेकिन कभी-कभी इस समस्या के लिए डॉक्टर द्वारा लिखी गई दवाओं के द्वारा भी उपचार किया जाता है। हालाँकि संक्रमण में सबसे पहले एंटीबायोटिक्स का ही नाम आता है, लेकिन इनके अलावा भी कुछ और दवाइयाँ होती हैं।

Image Source

जैसे:-

एसिटामिनोफेन ( टाईलेनॉल-Tylenol) और नोनस्टेरॉइडल (Nonsteroidal) दवाएं  (उदाहरण के लिए , एडविल, अलेवे-Aleve, और मोट्रिन-Motrin) जो दर्द और बुखार में दिए जाते  हैं। लेबल पर लगे सभी निर्देशों का पालन करें। यदि बच्चों को दवा देते समय, डॉक्टर की सलाह का पालन जरूर करें। ध्यान रखें कि दवाई की मात्रा कितनी होनी चाहिए। एसपीरीन का प्रयोग न करें, क्योंकि यह 20 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए घातक है। कुछ ईयरड्रॉप भी कान में गंभीर दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं। लेकिन यदि कान का परदा फट गया हो तब ईयरड्रॉप का प्रयोग ना करें।

यदि कान की चादरों से कोई तरल बाहर आ रहा हो तो, कर्टिकोस्टेरॉइड्स (Corticosteroids) का प्रयोग भी किया जा सकता है। वैसे, स्टेरॉयड दवा को कान के संक्रमण के इलाज के लिए एक अच्छा विकल्प नहीं माना जाता। खासकर ऐसे बच्चों के लिए, जो पिछले 3 हफ्तों से चेचक से पीड़ित हों।

अधिकांश अध्ययन में यह पाया गया है कि डोंगेस्टंट्स (Decongestants) , एंटीथिस्टेमाइंस, आमतौर पर कान के परदे के पीछे हुए संक्रमण या तरल पदार्थ को रोकने में सहायक नहीं होते हैं। क्योंकि एंटीथिस्टेमाइंस दवाएं तरल पदार्थ को गाढ़ा करता है, साथ ही बच्चों को इस दवा से नींद बहुत आती है। जिससे की बच्चे असहज महसूस कर सकते हैं। ऐसे में ध्यान देने योग्य बातें यह है कि डॉक्टर द्वारा दी गई दवाओं को अपने बच्चे को देने से पहले जाँच कर लें। विशेषज्ञ दो साल से छोटे बच्चों को डोंगेस्टंट्स (Econgestants) देने की सलाह नहीं देते हैं।

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !