एडिनॉयडेक्टॉमी के बाद बरती जाने वाली सावधानियाँ

भाषा चयन करे

13th June, 2016

Adenoidectomy ke baad barati jane vali savadhaniyan | एडिनॉयडेक्टॉमी के बाद बरती जाने वाली सावधानियाँ | Precautions to be taken after Adenoidectomyएडिनॉयडेक्टॉमी, कण्ठशूल या एडिनॉयड्स की सूजन की समस्या से निजात पाने के लिए की जाने वाली सर्जरी होती हैं, जिसमें एडिनॉयड्स और कभी-कभी टॉन्सिल्स को भी काट कर निकाल दिया जाता है। ऐसा इसलिए, ताकि बार-बार होने वाले संक्रमण से बचा जा सके। इस सर्जरी के बाद, बच्चे को पूरी तरह स्वस्थ्य होने में लगभग दो सप्ताह का समय लगता है। इस दौरान, बच्चे के परिजनों को कुछ सावधानियाँ चाहिए ताकि बच्चा जल्दी स्वस्थ हो सके और किसी प्रकार की कोई परेशानी न उत्पन्न होने पाए।

Image Source

एडिनॉयडेक्टॉमी के बाद सावधानियाँ

एडिनॉयडेक्टॉमी के बाद, बच्चे के माता-पिता या अन्य परिवारी लोग, जो बच्चे के पास  उसकी देख-भाल के लिए रहते हैं, निम्नलिखित सावधानियाँ बरतनी चहिये-

  • बच्चे को सर्जरी के बाद, मुलायम भोजन दिया जाना चाहिए, जैसे अंडे की भुर्जी, सूप, अन्य तरल पदार्थ और पॉप्सिकल्स आदि। बच्चे को खाने के लिए, सर्जरी के बाद पहले 24 घंटे तक किसी प्रकार के दूध उत्पाद नहीं दिए जाने चाहिए। उसके बाद, आइसक्रीम, हलवा, और दही दिया जा सकता है।
  • बच्चे को निर्जलीकरण (Dehydration) से बचाने के लिए अधिक से अधिक तरल पदार्थ खाने, पीने के लिए देना चाहिए।
  • बच्चे को सर्जरी के बाद पहले कुछ दिनों के लिए जितना संभव हो उतना आराम करवाना चाहिए। बच्चा जब तक नियमित रूप से खाने-पीने में सक्षम न हो जाए, अथवा दर्द की दवाओं  जरूरत खत्म न हो जाए, और रात में ठीक से सोने न लग जाए, तब तक स्कूल नहीं भेजना चाहिए।
  • यदि बच्चे के मुँह या नाक से गहरे लाल रंग का रक्त आ जाए तो तुरंत डॉक्टर पास या आकस्मिक चिकित्सा कक्ष में लेकर जाना चाहिए। इसका मतलब होता है कि एडिनॉयड या टॉन्सिल के काटे गए स्थान पर पड़ी हुई सफेद मोटी पपड़ी जो घाव सूखने से बनती है, अंदर से ऊतकों के स्वयं सूखने पहले ही किसी वजह से, निकल गई है। इससे नाक या लार में रक्त के छोटे थक्के दिखाई दे सकते हैं। अथवा, यदि बच्चे को साँस लेने में इतनी परेशानी हो कि उसके गले में घरघराहट की आवाज आने लगे या साँस न ले पाने के दूसरे लक्षण दिखाई दे तो तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट की जरूरत होती है। साँस लेने में यह परेशानी सर्जरी वाली जगह पर अत्यधिक सूजन आने की वजह से हो सकती है, इसलिए इसका तुरंत उपचार आवश्यक होता है।

इन सब बातों से पहले यह अवश्य ध्यान रखना जरुरी है कि सर्जरी को हल्के में नहीं चाहिए। सर्जरी होने से पहले सभी प्रकार के प्रश्नों के बारे डॉक्टर से बात अवश्य कर लेना चाहिए और किसी प्रकार का संदेह होने पर किसी वरिष्ठ और अधिक योग्य डॉक्टर से परामर्श ले लेना चाहिए।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !