एडिनॉयडिटिस या कंठशूल की सूजन

भाषा चयन करे

7th June, 2016

Kaise suj jata hai kanthshul? | कैसे सूज जाता है कंठशूल? | How Adenoiditis gets swelled?प्रत्येक व्यक्ति को समय-समय पर गले में खराश हो जाती है, और कभी कभी मुंह के टॉन्सिल संक्रमित हो सकते हैं। हालांकि, मुंह में केवल, टॉन्सिल ही संवेदनशील ग्रंथियों नहीं होती हैं, बल्कि मुंह में ऊपर की ओर, नाक और मुंह तालू के पीछे स्थित एडिनॉयड ग्लैंड्स, जिन्हें हिंदी में कंठशूल कहा जाता है, भी संक्रमित हो सकती हैं। जब एडिनॉयड ग्रन्थियां संक्रमण की वजह से सूजकर बड़ी हो जाती हैं तो इसे एडिनॉयडिटिस या कंठशूल की सूजन अथवा कुछ क्षेत्रों में करमुल कहते हैं। इसके कारण साँस लेने में मुश्किल होती है, और बार-बार श्वसन तंत्र का संक्रमण होता रहता है।

Image Source

एडिनॉयड ग्लैंड्स या कंठशूल क्या है?

टॉन्सिल की तरह ही, एडिनॉयड लसीका ऊतकों lymphatic (की गिल्टियाँ होती हैं, जो हानिकारक कीटाणुओं (जोकि मुँह और नाक के माध्यम से शरीर में प्रवेश करते हैं) को रोक कर मनुष्य को स्वस्थ रखती हैं। एडिनॉयड शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए एंटीबॉडी का निर्माण भी करती है। टॉन्सिल  की तरह एडिनॉयड को मुँह खोलकर नही देखा जा सकता है। एडिनॉयड  देखने के लिए नाक, कण, गला विशेषज्ञ के द्वारा छोटा सा आईना या एक विशेष यंत्र जिसमें जिसमें प्रकाश होता है, का उपयोग किया जाता है। कभी-कभी उन्हें और अधिक स्पष्ट रूप से देखने के लिए एक्स रे भी लिया जा सकता है।

यद्यपि, एडिनॉयड मनुष्य को स्वस्थ रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका दा करता है, फिर भी जैसे-जैसे व्यक्ति वयस्क होता जाता है, शरीर में रोगों से लड़ने के लिए अन्य क्षमताओं का विकास होता जाता है। वास्तव में, उम्र बढ़ने के साथ-साथ एडिनॉयड छोटा होने लगता है, और किशोरावस्था में लगभग गायब हो जाता है।

क्या है एडिनॉयडिटिस या कंठशूल की सूजन?

यद्यपि एडिनॉयड, कीटाणुओं को फिल्टर करता है, परन्तु कभी-कभी जब कीटाणु अत्यधिक जाते हैं, तब यह संक्रमित हो जाता है। जब ऐसा होता है, उनमें सूजन आ जाती है और वह बढ़ जाते है। इसी स्थिति को एडिनॉयडिटिस या कंठशूल की सूजन कहते हैं। इसमें गले में खराश साथ-साथ साँस लेने में परेशानी होने लगती है। आमतौर पर यह समस्या बच्चों में देखने में आती है, लेकिन कभी-कभी बड़ों को भी हो जाती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !