कान का संक्रमण- उपचार

भाषा चयन करे

19th April, 2016

Kaan ke Sankraman ke Upchar ka Sabse Achha Tarika | कान के संक्रमण के उपचार का सबसे अच्छा तरीका | Best Treatment for Ear Infectionकान में संक्रमण के उपचार में, सबसे पहले दर्द पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। डॉक्टर सबसे पहले बच्चे के कान का बारीकी से निरीक्षण करते हैं। वहीं यदि, बच्चे की हालत में पहले से सुधार है, तो आप इसका इलाज घर पर भी कर सकती हैं। लेकिन यदि घर पर बच्चे को आराम न लग रहा हो, तो इस स्थिति में डॉक्टर से सम्पर्क करना ही ठीक होता है। ऐसे में, डॉक्टर कुछ एंटीबायोटिक दवाइयाँ भी लिख सकते हैं।

Image Source

यदि बच्चे को संक्रमण लगातार हो रहा हो तो, इसकी लगातार जाँच भी महत्वपूर्ण है। क्योंकि कान में तरल पदार्थ का जमा होना या संक्रमण का दोबारा फैलना भी इस जाँच के जरिये पता लगाया जा सकता है। भले ही आप अपने बच्चे को देख कर इस परेशानी का अंदाजा न लगा पाएं, और उसे भी ज्यादा तकलीफ न हो रही हो, लेकिन एक बार संक्रमण होने के बाद, डॉक्टर आपको 4 हफ़्तों में परीक्षण के लिए बुला सकता है।

एंटीबायोटिक्स

हालाँकि कान से जुडी इस परेशानी में, डॉक्टर आपके बच्चे को एंटीबायोटिक दवा दे सकता है, लेकिन कान का संक्रमण एंटीबायोटिक के बिना भी बेहतर हो सकता है। अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें। एंटीबायोटिक दवाओं का प्रयोग इस बात पर निर्भर करता है कि बच्चे का संक्रमण कितना पुराना है। यदि आपके बच्चे को कोचलेर प्रत्यारोपण (cochlear implants) किया गया हो, तब आपका डॉक्टर एंटीबायोटिक दवा लेने की सलाह देगा। क्योंकि ये कान में संक्रमण की गंभीर जटिलताओं में से एक है।

बार-बार संक्रमण का लौट आना

यदि किसी बच्चे को बार-बार कान का संक्रमण हो रहा हो, खास कर 6, महीनों या 4 महीनों या फिर एक साल में यह दोबारा लौट आए, तो इस तरह के संक्रमण को उपचार की आवश्यकता पड़ती है। इस तरह का उपचार एंटीबायोटिक दवाओं से किया जाता है। हालाँकि सभी डॉक्टर इस तरह के उपचार को बेहतर नहीं मानते। वहीं यदि इन दवाओं का प्रयोग लगातार किया जाए, तो शरीर इनके प्रति प्रतिक्रिया देना भी बंद कर देता है।

कान में ट्यूब डालकर दुबारा से हो रहे कान में संक्रमण को रोका जा सकता है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !