आँखों का भैंगापन या तिरछापन

भाषा चयन करे

2nd April, 2018

Aankho ka bhaingapan | आँखों का भैंगापन | lazy eye or amblyopia

Image Source

 

आँखों का भैंगापन, या तिरछापन जिसे अंग्रेजी में, लेज़ी आई, स्ट्रैबिस्मस या एमब्लिओपिया जैसे नामों से भी जाना जाता है, एक ऐसी समस्या है, जिसमें व्यक्ति की दोनों आँखों की पुतलियाँ एक साथ एक ही दिशा में न घूम कर अलग-अलग दिशाओं में घूमती हैं, यानी उनमें समन्वय नहीं बन पाता। ऐसा तब होता है, जब किसी एक या दोनों आँखों के रेटिना के उत्तकों की पतली परत के बीच के तंत्रिका पथ में असामान्य बदलाव आ जाते हैं, जो आँखों की मांशपेशियों को नियंत्रित करती हैं।

जब यह तंत्रिकाएं कमज़ोर हो जाती हैं और आँख की मांशपेशियां नियंत्रित नहीं रहती तो वह किसी भी दिशा में घूमती हैं। इसी के कारण भैंगेपन की समस्या पैदा होती है। यह समस्या आम तौर पर एक ही आँख में होती है, लेकिन ऐसा नहीं है कि दोनों आँखों में नहीं हो सकती। हालाँकि ऐसे मामले कम ही देखने को मिलते हैं, जिनमें कोई व्यक्ति या बच्चा दोनों आँखों के भैंगेपन का शिकार हो।

यह समस्या आम तौर पर, जन्मजात होती है और बच्चे के 6-7 वर्ष की उम्र के होने तक नज़र आती है। वहीँ कुछ व्यक्तियों में यह उम्र के किसी भी पड़ाव में हो सकती है। यदि किसी व्यक्ति की आँख की मांशपेशी कमज़ोर हो जाए, तो वह ठीक से काम नहीं कर पाती और आँखों की पुतली किसी भी दिशा में घूमनी शुरू हो जाती है। इस तरह की समस्या को पैरालीटिक भैंगापन या तिरछापन कहा जाता है।

आँखों की मांशपेशयां या किसी एक आँख की मांशपेशी जितनी अधिक कमज़ोर होती है, मस्तिष्क का उन पर नियंत्रण भी उतना ही कम होता है और आँखों की पुतली भी उतनी ही तेजी से घूमती है। साथ ही इस समस्या में अन्य आंख के मुकाबले उस आंख से दिखाई भी कम देता है। आम तौर पर यह समस्या सिर्फ़ एक ही आँख में होती है, लेकिन ऐसा नहीं है कि यह दोनों आँखों में नहीं हो सकती। हालाँकि ऐसे मामले बेहद कम बल्कि यूं कहें कि न के बराबर देखने को मिलते हैं।

हालाँकि ऐसा माना जाता है कि इस समस्या का उपचार नहीं होता, लेकिन डॉक्टर यह बात भी स्वीकार करते हैं कि यदि समय रहते इसे पहचान कर इसका उपचार किया जाए तो इसे इसके चरम पर पहुँचने से रोका जा सकता है। साथ ही समय पर उपचार से आँख की रौशनी भी कम होने से बच जाती है।

भैंगेपन के उपचार और इसकी रोकथाम के लिए डॉक्टर कॉन्टेक्ट लेंस और चश्मे लगाने की सलाह देते हैं। वहीँ कुछ मामलों में डॉक्टर सर्जरी कराने की सलाह भी देते हैं।

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !