ग्लूकोमा (काला मोतिया) का उपचार

भाषा चयन करे

17th November, 2015

Glaucoma ka Upchar kaise kiya jata hai? | काला मोतिया का उपचार कैसे किया जाता है? | How to Treat Glaucoma?यदि आपको लक्षणों और डॉक्टरी जाँच के बाद यह निश्चित हो गया है कि आपको काला मोतिया है, तो आप अपने डॉक्टर के साथ मिलकर इसका उपचार शुरू कर सकते हैं। जाँच के बाद उपचार की प्रक्रिया इस बात पर निर्भर करती है कि यह बीमारी अभी किस अवस्था में है।

Image Source

यदि आपका मोतिया शुरुआती दौर में है, तो इसका उपचार निश्चित तौर पर दवाओं से किया जाएगा। लेकिन यदि बीमारी गंभीर अवस्था में पहुंच चुकी हो, तो इसका उपचार सर्जरी या लेजर द्वारा ही किया जाता है।

काला मोतिया के उपचार निम्न विधियों द्वारा किये जाते हैं:

जैसे-

  • आई ड्राप (आँखों में डालने वाली दवाइयाँ)
  • लेजर सर्जरी
  • ट्रेडिशनल सर्जरी
  • कभी-कभी इसका उपचार दो तरीकों को एक साथ जोड़कर भी किया जाता है।

आई ड्राप
काले मोतिया की शुरुआत में, इसका इलाज आई ड्राप के द्वारा किया जाता है। इस दौरान यदि आप किसी अन्य दवाई का प्रयोग भी कर रहें हैं, तो उसके बारे में अपने डॉक्टर को जानकारी जरूर दे दें। वहीं हो सकता है कि इन दवाइयों को आँखों में डालने के बाद तेज चुभन हो लेकिन घबराएं नहीं।

दवाइयाँ
यदि डॉक्टर को लगता है कि आपका मोतिया इस स्टेज में है कि सिर्फ आई ड्राप से फायदा नहीं होगा, तो वह आपको कुछ दवाइयाँ भी लिख सकता है। यह दवाइयाँ आपको दवाई के साथ भी लेनी पड़ सकती है और इसके बिना भी। यह आपके मोतिया और डॉक्टर द्वारा दिए जा रहे ट्रीटमेंट पर निर्भर करता है। इन दवाओं को दिन में 2 से 4 बार लिया जाता है।

सर्जरी
यदि आपकी बिमारी दवाइयों और आई ड्राप की पहुंच से आगे निकल चुकी है, तो इसके बाद आपके लिए एक ही रास्ता बचता है और वह है सर्जरी। काले मोतिया के लिए की जाने वाली सर्जरी ज्यादा घातक नही होती और सिर्फ दो हफ़्तों में व्यक्ति सहज हो जाता है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !