गर्दन में अकड़न या मोच? घरेलू नुस्खों से पाएं राहत

भाषा चयन करे

20th May, 2017

Gardan akad jaane ke gharelu upchar | गर्दन अकड़ जाने के घरेलू उपचार | Home remedies for stiff neck गर्दन में अकड़न, गर्दन में मोच आना, या गर्दन में दर्द होना, एक ऐसी समस्या है, जिसे हो जाए परेशान कर देती है। ऐसा ज्यादातर लोगों के साथ होता देखा जाता है। और तो और यह किसी भी उम्र में और कभी भी हो सकता है। गर्दन में अकड़न कोई घातक बिमारी नहीं है, लेकिन इसमें रोगी को तकलीफ बहुत होती है।

Image Source

गर्दन में अकड़न होने पर, गर्दन सिर्फ एक ही दिशा में रहती है और उसे इधर-उधर हिलाने या घुमाने पर दर्द होता है। यह समस्या ज्यादातर लोगों को सुबह सो कर उठने पर मिलती है। वहीं कभी-कभी ऐसा अचानक से एक तरफ गर्दन घुमाने (झटका लगने) पर भी हो सकता है। यानी यदि अचानक से किसी दूसरी तरफ गर्दन को घुमा दिया जाए तो उसमें झटका लगने से ऐसा हो जाता है। दरअसल ऐसा तब होता है, जब गर्दन की मांशपेशियों में खिंचाव पड़ जाता है।

यह समस्या किसी को 3-4 दिन, किसी को हफ्ता, तो किसी को 15 दिनों तक भी रह सकती है। ऐसे में व्यक्ति कोई काम ठीक तरीके से नहीं कर पाता। वह जैसे ही गर्दन को घुमाने की कोशिश करता है, उसमें दर्द होने लगता है।

कैसे पायी जा सकती है जल्दी राहत?

  • जैसे ही आपको पता चलता है कि आपकी गर्दन में अकड़न हो गई है और वह इधर-उधर घूम नहीं रही है, उसे जबरजस्ती इधर उधर घुमाने की कोशिश न करें। पहले थोड़ी देर तेल या कोई ऑइंटमेंट लगा कर मालिश करें और फिर कुछ समय तक सिकाई करें।
  • सिकाई करने के बाद धीरे-गर्दन का व्यायाम करने की कोशिश करें।  
  • नहाते समय पानी में थोड़ा नमक डाल लें और पहले उससे सिकाई करें और फिर गुनगुने पानी को गर्दन पर डालते हुए नहाएं।  
  • यदि दर्द ज्यादा हो तो आप कोई भी पेन किलर जैसे आइब्रुफेन या एसिटामिनोफेन भी ले सकते हैं।

इनके अलावा, नीचे दिए गए तरीके भी गर्दन में अकड़न से तुरंत राहत देने में कारगर हैं-

  • किसी भी गर्म तरल, जैसे दूध, चाय या सूप का सेवन करें, इससे निसंदेह दर्द में राहत महसूस होगी,
  • सरसों के तेल में लहसुन की कुछ कलियों को पकाएं और गुनगुने तेल से गर्दन पर मालिश करें,
  • एक सूती कपडे में थोड़ी अजवाइन भर लें और इसे गर्म तवे या लोहे की कड़ाही पर रख कर गर्दन की सिकाई करें। यह नुस्खा भी गर्दन अकड़ने पर बहुत लाभदायक है। दिन में कम से कम तीन बार इस तरह से सिकाई करें।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !