डिस्प्रिन से क्या-क्या परेशानियां हो सकती हैं?

भाषा चयन करे

19th May, 2017

Disprin se hone wali pareshaniya | डिस्प्रिन से होने वाली परेशानियाँ | Harms of Dispirinडिस्प्रिन का प्रयोग हम शरीर के किसी भी हिस्से में होने वाले हल्के-फुल्के दर्द में करते हैं। उदाहरण के तौर पर, सिरदर्द, बदन दर्द, दांत में दर्द या फिर कमर दर्द में प्रयोग की जाती है। इसके लिए हमें डॉक्टर से सलाह नहीं लेनी पड़ती। हाँ अगर बात छोटे बच्चों, 16 वर्ष से कम उम्र के बालकों या बुजुर्गों को देने की हो तो डॉक्टर की सलाह आवश्यक होती है।

Image Source

डिस्प्रिन टेबलेट को जब किसी भी प्रकार के दर्द में लिया जाता है, तो यह शरीर में जाकर उस एंजाइम  साइक्लो-क्सीजिनेज (सीओएक्स) की सक्रियता को ब्लॉक कर देती है, जो जो शरीर में दर्द और सूजन पैदा करने वाले यौगिक प्रोस्टाग्लैंडिन के बनने की प्रक्रिया में हिस्सा लेता है। यानी डिस्प्रिन इस पूरी प्रक्रिया को रोकने का कार्य करती है। जिससे व्यक्ति को दवाई लेने के बाद दर्द में आराम महसूस होता है। चलिए शरीर को दर्द से राहत देने वाली डिस्प्रिन जिसे एस्पिरिन के नाम से भी जाना जाता है के कुछ संभावित दुष्प्रभावों के बारे में जान लेते हैं, जिनकी जानकारी इसके प्रयोग कर्ताओं को होना भी जरुरी है।

डिस्प्रिन से क्या-क्या परेशानियां हो सकती हैं?

  1. डिस्प्रिन के कारण किसी व्यक्ति को पेट में दर्द, जलन, सूजन या असहजता की समस्या हो सकती है।
  2. डिस्प्रिन के कारण जठरशोथ की समस्या हो सकती है, और यदि किसी को पहले से यह समस्या हो तो उसे और ज्यादा तकलीफ हो सकती है।
  3. उल्टी भी हो सकती है और व्यक्ति को बीमारों जैसा महसूस हो सकता है।
  4. पेट और आँतों में छाले हो सकते हैं और उनसे रक्त स्त्राव हो सकता है।
  5. एलर्जी की समस्या भी हो सकती है। त्वचा पर चकते हो सकते हैं या होठों, गले और जीभ पर सूजन हो सकती है।
  6. जिन्हें अस्थमा की समस्या हो उन्हें अस्थमा का अटैक भी हो सकता है।
  7. यदि किसी व्यक्ति को चोट लगने पर खून न रुकने की समस्या हो तो यह समस्या कर भी ज्यादा घातक रूप ले सकती है। क्योंकि यह खून को पतला कर देती है।

यदि व्यक्ति को पूरी तरह यकीन हो कि वह चुस्त और दुरुस्त है, तो वह इस दवाई का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह के भी कर सकता है, लेकिन कोई भी दवाई हो, एक बार डॉक्टर से सलाह ज़रूर ले लेनी चाहिए। खास तौर पर, उम्र दर्ज लोगों को दवाई का प्रयोग संभलकर करना चाहिए। बच्चों और बुजुर्गों को समस्या होने की आशंका ज्यादा रहती है।

 



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !