उच्च कोलेस्ट्रॉल के लिए दवाएं

भाषा चयन करे

27th September, 2015

Kon si Dawayen Uchh Cholesterol ke Ilaaj mein Upyog ki jati hai? | कौन सी दवाएं उच्च कोलेस्ट्रॉल के इलाज में उपयोग की जाती है? | What Medicines are Prescribed for High Cholesterol?यदि आपका कोलेस्ट्रॉल हाई है तो आपका डॉक्टर आपको कम हानिकारक वसा, कम रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट और ज्यादा फाइबर वाले खाद्य-पदार्थों के साथ-साथ दवाइयों की भी सलाह देता है। कोलेस्ट्रॉल हमारी कोशिकाओं का एक बेहद महत्वपूर्ण हिस्सा है और यह कुछ हार्मोन को बनने से भी रोकता है। आमतौर पर हमारा लिवर (liver) इतना कोलेस्ट्रॉल बना लेता है जितने की शरीर को जरूरत होती है लेकिन जब हम इसके अलावा खाद्य-पदार्थों के माध्यम से अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल लेते हैं तो इसकी शरीर में अधिकता हो जाती है।

Image Source

अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल हम जानवरों से मिलने वाले खाद्य-पदार्थों जैसे दूध, अंडे और मीट से ग्रहण करते हैं। वहीं अत्यधिक मात्रा में लिया गया यह कोलेस्ट्रॉल हमारी धमनी को कोरोनरी बीमारी का शिकार भी बना सकता है।

कोलेस्ट्रॉल का सबसे शुरुआती उपचार हमारे खान-पान से ही शुरू होता है। इसके लिए हमें कम वसा वाला और कोलेस्ट्रॉल जैसे कि उपर बताया गया है लेना होता है। हमें अपने दैनिक आहार में वसा रहित और स्वास्थ्य से भरपूर भोजन जैसे ताजे फल, सब्जियां सूखे मेवे इनका प्रयोग करना है। इसका दूसरा तरीका है लगातार व्यायाम करना।

व्यायाम करने से हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा घटती है। इन दोनों प्राथमिकी उपचारों के अलावा हमें डॉक्टर द्वारा बताई गई कुछ दवाइयों का प्रयोग करना है।

कोलेस्ट्रॉल घटाने वाली दवाएँ:

  • स्टैटिन्स (Statins)
  • नियासिन (Niacin)
  • पित्त एसिड रेसिन (Bile-acid resins)
  • फाईब्रेट्स (Fibrates)

ये कोलेस्ट्रॉल विरोधी दवाइयाँ जब उचित खान-पान और व्यायाम के साथ नियमित तौर पर ली जाती हैं तो बेहद तेजी से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रण में आ जाता है।

स्टैटिन्स (Statins)

Statin, लिवर में कोलेस्ट्रॉल के बनने पर रोक लगा देती है। यह दवाई वह LDL और ट्राइग्लिसराइड्स को कम HDL को बढ़ा देती है। उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए ज्यादातर लोगों को सबसे पहले यही दवा दी जाती है। यह हृदय रोग के जोखिम को कम कर देती है, और भविष्य में दिल के दौरे के खतरे को कम कर देती है। कुछ लोगों में इसके साइड इफेक्ट भी देखे गए हैं जैसे पेट की समस्या (intestinal problem), जिगर को क्षति (liver damage), और, मांसपेशियों की कोमलता या कमजोरी (muscle tenderness or weakness)। अगर अपके डॉक्टर ने स्टैटिन लेने को कहा है, तो आप उनसे ये भी पूछ लें कि इस दवा के माध्यम से आप कितना प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं। आमतौर पर, यह 30% और 50% के बीच में होना चाहिए।

स्टैटिन के कुछ उदाहरण:

  • एटोरवास्टेटिन (लिपिटोर) (Atorvastatin) (Lipitor)
  • फ्लुवास्टाटिन (लेस्कोल XL) (Fluvastatin) (Lescol, XL)
  • लोवास्टैटिन ( आल्टोकर आल्टोप्रेव मेवाकर ) (Lovastatin) (Altocor, Altoprev, Mevacor)
  • पिटावस्टैटिन (लीवालो ) (Pitavastatin) (Livalo)
  • प्रावस्टैटिन (प्रवाकॉल) (Pravastatin) (Pravachol)
  • रोसवस्टैटिन क्रेस्टर ) (Rosuvastatin) (Crestor)
  • सिमवस्टैटिन (जोकॉर ) (Simvastatin) (Zocor)

नियासिन (Niacin)

नियासिन एक बी कॉम्प्लेक्स विटामिन है। आमतौर पर तो यह भोजन में भी होता है लेकिन यदि शरीर में इसकी कमी हो तो डॉक्टर इसे दवाइयों के माध्यम से भी बता देते हैं। यह LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और HDL कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देता है। इसके मुख्य दुष्प्रभाव हैं, निस्तब्धता (Flushing), खुजली (Itching), झुनझुनी (Tingling), और सिर दर्द (Headache)। एस्पिरिन इन लक्षणों में से कई को कम कर सकता है। एस्पिरिन लेने से पहले, हालांकि, आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। शोध अध्ययनों से ये भी पता चला है की नियासिन आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार कर सकता है ,लेकिन यह हृदय की बीमारी के खतरे को कम नहीं करता है खासकर तब जब आप पहले से ही स्टैटिन ले रहे हों।

नियासिन के कुछ उदाहरण हैं:

  • निकोलार (Nicolar)
  • निएस्पन (Niaspan)

पित्त एसिड रेसिन (Bile-acid resins)

यह दवाएँ आंत के अंदर काम करती है, जहाँ ये पित्त से जुड़ जाती है और इसे वापस संचार प्रणाली में अवशोषित नही होने देती। पित्त काफी हद तक कोलेस्ट्रॉल से बना है, इसलिए इन दवाओं के माध्यम से कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। यह कोलेस्ट्रॉल और LDL को काम करता है। लेकिन वहीं इसके दुष्प्रभाव कब्ज, गैस, और पेट की गड़बड़ी के रूप में भी सामने आ सकते हैं।

पित्त अम्ल रेसिन के कुछ उदाहरण:

  • कॉलेस्ट्रेमिन रेसिन (Prevalite, Questran और Questran Light)
  • कॉलेसेवेलम Colesevelam (WelChol-वेलकोल)
  • कॉलेस्टिपोल (Colestipol ) कॉलेस्टिड (Colestid)

फाईब्रेट्स (Fibrates)

फाईब्रेट्स (Fibrates) LDL और ट्राइग्लिसराइड को कम और HDL को बढ़ा सकता है और फाईब्रेट्स ट्राइग्लिसराइड के कणों को तोड़ता है और रक्त वसा के स्राव को कम करता है।

फाईब्रेट्स के उदाहरण:

  • Atromid
  • फेनोफिब्रेट्स Fenofibrate (Lofibra-लोफिब्रा Tricor-ट्राईकोर)
  • गेम्फ़िब्रोज़ील Gemfibrozil (Lopid-लोपिड)

कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण अवरोधक (Cholesterol absorption inhibitors)

Ezetimibe (Zetia) LDL को कम करता है। यह आंतों में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण को रोकता है। Vytorin ड्रग, ezetimibe और Statin को जोड़ती है। यह कुल LDL कोलेस्ट्रॉल को कम और HDL के स्तर को बढ़ाता हैं। Ezetimibe अपने एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं, शोध अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि यह हृदय की बीमारी के खतरे को कम नहीं करती।

एक साथ अधिक दवाइयों का प्रयोग (Combination drugs)

उच्च कोलेस्ट्रॉल में कुछ लोगों को संयोजन दवाओं के साथ सबसे अच्छा परिणाम प्राप्त होता है। यह एक से ज्यादा दवाईयो का संयोजन होता है जिसे कोलेस्ट्रॉल की समस्याओं, ट्राइग्लिसराइड (trigylceride) की असामान्यताएं, और उच्च रक्तचाप के इलाज के लिए भी दिया जाता है।

इसके कुछ उदहारण निम्न हैं:

  • Advicor: Lovastatin और niacin (nicotinic acid)
  • Caduet: Atorvastatin और amlodipine जो कि एक कैल्शियम चैनल ब्लॉकर है।
  • Liptruzet: Atorvastatin और ezetimibe
  • Simcor: Simvastatin और niacin (nicotinic acid)
  • Vytorin: Simvastatin और ezetimibe यह एक कॉलेस्ट्रोल अवशोषण अवरोध दवाई है।

कोलेस्ट्रॉल की दवाओं के दुष्प्रभाव:

अगर आपको मांसपेशियों में दर्द है तो निश्चित तौर पर चिंतित होने की जरुरत है। यह अवस्था, जीवन को खतरे में डालने वाला संकेत हो सकती है। अगर आपको मांसपेशियों में दर्द है, तो तुरंत अपने डॉक्टर को बुलाएं।

कोलेस्ट्रॉल दवाओं के अन्य प्रमुख दुष्प्रभाव हैं:

  • असामान्य गुर्दा कार्य (Abnormal liver function)
  • एलर्जी (त्वचा पर चमकते हुए निशान ) (Allergic reaction (skin rashes))
  • सीने में जलन (Heartburn)
  • चक्कर आना (Dizziness)
  • अनियमित दर्द होना (Abdominal pain)
  • कब्ज (Constipation)
  • सेक्स की इच्छा में कमी (Decreased sexual desire)
  • यादास्त कम होना (Memory loss)

यदि आपको मांसपेशियों में दर्द है तो, तुरंत अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें क्योंकि यह आपके जीवन के लिए खतरे का संकेत हो सकता है।

कोलेस्ट्रॉल रोधक दवाओं के साथ नजरअंदाज किये जाने वाले फूड्स

यदि आप Statins ले रहें हैं तो ऐसे में ताजा अंगूरों के जूस का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि यह जूस लिवर में दवाओं के उपापचय के साथ हस्तक्षेप कर सकता है। इसके लिए आप अपने डॉक्टर से बात करें वह आपकी दवाइयों को बदल सकता है या इनका समय बदल सकता है। या फिर आप जब तक दवाई ले रहें हैं तो जूस के सेवन से परहेज करें।

 

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !