उच्च कोलेस्ट्रॉल की जाँच

भाषा चयन करे

27th September, 2015

Kon se test Cholesterol ki janch karne ke liye kiye jate hai ? | कौन से टेस्ट उच्च कोलेस्ट्रॉल की जाँच के लिए किये जाते है ? | What Test are Done to Diagnose High Cholesterol?यदि आपकी उम्र 20 से अधिक है, तो आपके डॉक्टर को हर पांच साल में कम से कम एक बार आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को मापना चाहिए। उच्च कोलेस्ट्रॉल के लक्षण नहीं होते हैं और आपको यह पता भी नहीं चलता है कि आपका कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है। इसलिए रक्त परिक्षण के माध्यम से आप अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को पता कर सकते हैं।अगर आपका कोलेस्ट्रॉल का स्तर अधिक हो तो उसे कम करें और हार्ट अटैक के खतरे से बचें और अगर आप को पहले से ही हृदय रोग है तो अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बराबर बनाये रखें और हार्ट अटैक और दिल की बीमारियो से बचें।आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को पता करने के लिए डॉक्टर एक सरल सा परिक्षण करते हैं जिसे लिपिड प्रोफाइल कहते हैं ।

Image Source

इस परीक्षण में निम्नलिखित चीजो की जाँच की जाती है?

  • कुल कोलेस्ट्रॉल स्तर (Total cholesterol level)
  • HDL का स्तर (high density lipoprotein cholesterol, also called “good” cholesterol)
  • LDL का स्तर (low density lipoprotein cholesterol, also called “bad” cholesterol)
  • ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर (Level of Triglycerides)

रक्त परीक्षण के अलावा, आपके चिकित्सक, आपके चिकत्सीय इतिहास (medical history) पर चर्चा करते हैं। आपका एक पूर्ण शारीरिक परीक्षण होता है, आपके हृदय की धड़कनों को चेक किया जाता है। रक्तचाप की भी जाँच होती है।

अगर आपका कोलेस्ट्रॉल ज्यादा है और हृदय की बीमारी के कुछ कारक भी उपस्थित हैं तो डॉक्टर आपको कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए दवाईयों के साथ-साथ अपने आहार और जीवन शैली में बदलाव करने की सलाह भी देते हैं।

अगर आपको लगता है की हृदय रोग का खतरा है तो आगे और परिक्षण की आवश्यकता हो सकती है। हृदय रोग के परीक्षण के बारे में अधिक जानने के लिए हेल्थकोष (healthsetu.com) के हृदय रोग गाइड पर जाएँ।

कोलेस्ट्रॉल के स्तर के बारे में जानें

कोलेस्ट्रॉल के स्तर को जानने की लिए 20 साल की उम्र के बाद से हर पांच साल में आमतौर टेस्ट करवाना चाहिए। इस टेस्ट को लिपिड प्रोफाइल कहा जाता है। विशेषज्ञों का कहना है कि 35 वर्ष की उम्र से ज्यादा के पुरुषों में और 45 वर्ष की उम्र से ज्यादा की महिलाओं में इस जाँच और जल्दी-जल्दी करवाना चाहिए।

लिपोप्रोटीन प्रोफाइल में निम्न जाँचें शामिल हैं:

  • कुल कोलेस्ट्रॉल स्तर (Total cholesterol level)
  • HDL का स्तर (High-density lipoprotein cholesterol, also called “good” cholesterol)
  • LDL का स्तर (Low-density lipoprotein cholesterol, also called “bad” cholesterol)
  • ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर (Level of Triglycerides)

आपके रक्त परीक्षण का परिणाम संख्या के रूप में आता है। यहाँ नंबरों के रूप में कोलेस्ट्रॉल की जाँच की जानकारी दी गई है। इस संबंध में सबसे पहली जानकारी यह है कि यह नंबर अपने आप में हृदय से जुडी समस्याओं की भविस्यवाणी करने में सक्षम नहीं हैं। न ही इस से यह पता चल सकता है कि इसके खतरे को कम करने के लिए क्या किया जा सकता है। इन नंबरों के अलावा कुछ और भी कारक हैं जैसे आपकी उम्र, धूम्रपान करते हैं या नहीं, रक्त चाप और रक्तचाप के लिए ली जाने वाली दवाइयों को भी देखा जाता है। इन सभी चीजों के द्वारा आपका डॉक्टर आपके आगामी दस सालों तक के लिए आपके हृदय की बिमारियों की जाँच करेगा। इसके बाद आप दोनों मिलकर इस हृदय घात की परेशानी से निबटने का रास्ता निकाल सकते हैं।

LDL कोलेस्ट्रॉल

आपकी धमनियों की दीवारों पर LDL कोलेस्ट्रॉल का निर्माण होने लगता है और जिससे धमनियों की दीवार कठोर होने लगती हैं। इस प्रक्रिया को एथेरोसिरोसिस (atherosclerosis) कहा जाता है। जो धमनियों की दीवारों को सँकरा बनाती हैं, और रक्त के प्रवाह को कम या रोक देती है। इसके चलते हृदय की बीमारी होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। यही कारण है कि LDL कोलेस्ट्रॉल “ख़राब ” कोलेस्ट्रॉल के रूप में जाना जाता है। कम LDL कोलेस्ट्रॉल का स्तर, आपके जोखिम को कम करता है।

अगर आपका LDL का स्तर 190 से ज्यादा है तो इसे उच्च स्तर को ख़राब कोलेस्ट्रॉल माना जाता है और डॉक्टर इसे कम करने के लिए, आपको दवाइयाँ देता है। Statins एक ऐसी दवा है जो आपका कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करती है। अगर आपका LDL कोलेस्ट्रॉल का स्तर 190 से कम भी है तो आपको स्टैटिन लेने की जरूरत हो सकती है। आपके 10 साल के जोखिम को कम करने के लिए चिकित्सक आपसे अपने कोलेस्ट्रॉल को आहार, व्यायाम और दवाइयों के माध्यम से कम करने की सलाह देता है।

HDL कोलेस्ट्रॉल

जब HDLकोलेस्ट्रॉल “अच्छा कोलेस्ट्रॉल” की बात आती है तो इसका मतलब होता है कि “उच्च संख्या कम जोखिम”। HDL कोलेस्ट्रॉल आपके रक्त से LDL कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकालता है जो धमनियों की दीवारों में होता है और हृदय रोग से आपकी रक्षा करता है। Statins से HDL कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाया जा सकता है जैसे व्यायाम से।

ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides)

मुख्यतया वसा ट्राइग्लिसराइड्स के रूप में खाद्य पदार्थ और हमारे शरीर में उपस्थित होती है। उच्च ट्राइग्लिसराइड के स्तर से कोरोनरी धमनी रोग का खतरा बढ़ जाता है।

                        ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर                          ट्राइग्लिसराइड  की श्रेणी
                              150 से कम                                       सामान्य
                             150-199                                   हल्का उच्च
                            200-499                                        उच्च
                           500 या उससे ज्यादा                                   बहुत अधिक

कुल कोलेस्ट्रॉल स्तर

आपके रक्त में कुल कोलेस्ट्रॉल का मतलब HDL के स्तर, LDL के स्तर और अन्य लिपिड घटकों (lipid components) से होता है। डॉक्टर कुल कोलेस्ट्रॉल के स्तर से ये पता करते हैं कि आपको हृदय रोग का कितना जोखिम है और इसे कैसे रोक जा सकता है।

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !