कोलेस्ट्रॉल में राहत देने वाले कुछ खाद्य-पदार्थ

भाषा चयन करे

27th September, 2015

 Kon se Khadya-Padarth Cholesterol ko kam karne mein Madad karte hai? | कौन से खाद्य पदार्थ कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं? | What Foods are Good to Reduce High Cholesterol? यदि आप वास्तव में अपने कोलेस्ट्रॉल के प्रति गंभीर हैं और इस से निजात पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपनी आदतों के प्रति थोड़ा सख्त होना होगा। अपनी जीवन शैली में एक सकारात्मक बदलाव के साथ-साथ आपको अपने खान-पान में क्या चीजें खानी हैं और क्या नहीं इसकी भी जानकारी लेनी होगी। आपको फाइबर ज्यादा लेना होगा। सोया फ़ूड, ओमेगा-3 फैटी एसिड और प्लांट कम्पाउंड और कुछ यौगिक जो कोलेस्ट्रॉल जैसे होते ( स्टेनोल्स और स्टेरोल्स ) हैं का प्रयोग करना होगा यह तत्व LDL कोलेस्ट्रॉल यानी बुरे कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में सहायक होते हैं।

Image Source
  • फाइबर: केवल पौधों वाले खाद्य-पदार्थ जैसे सब्जियां, फल, फलियां, अपरिष्कृत अनाज इनमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। घुलनशील फाइबर जैसे जई चोकर, जौ, इसबगोल (psyllium) के बीज, अलसी के बीज, सेब, खट्टे फल, दाल और सेम के प्रयोग से कुल कोलेस्ट्रॉल और LDL कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है।
  • सूखे मेवे: कुछ नट्स जैसे बादाम (almonds), अखरोट (walnuts), पीकन ( pecans) और पिस्ता कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं। FDA के अनुसार, रोज एक मुट्ठी (1.5 औंस) नट्स खाने से हृदय रोग के खतरे को कम किया जा सकता है। ऐसे खाद्य पदार्थ की जिसमे उच्च संतृप्त वसा की जगह सूखे मेवों का प्रयोग करें ये फाइबर का अच्छा स्रोत हैं।
  • सोयाबीन्स: अन्य प्रोटीन की जगह सोयाबीन या सोया प्रोटीन से LDL कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करके कोरोनरी हृदय रोग के खतरे को रोका जा सकता है। सोया प्रोटीन टोफू, टेम्पेह (tempeh) , सोया दूध, सोया दही, बीन्स (edamame), सोया नट्स, और सोयाबीन से बने कई अन्य खाद्य उत्पादों में मौजूद होता है।
  • फाइटोस्टेराँल्स (Phytosterols): फाइटोस्टेराँल्स ( स्टेरोल और स्टैनोल एस्टर sterol और stanol esters) खाद्य पदार्थों में थोड़ी मात्रा में पाया जाने वाला यौगिक है जो मुख्यतया साबुत अनाज के साथ-साथ सब्जियां, फल, और वनस्पति तेलों में पाया जाता है। यह आंतों में कोलेस्ट्रॉल के अवशोषण में दखलंदाजी कर के LDL कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।
  • ओमेगा-3 फैटी एसिड: ऐसे खाद्य-पदार्थों का सेवन जिनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है हृदय रोग और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करने में मदद मिलती है। ओमेगा -3 फैटी एसिड गुर्दे में ट्राइग्लिसराइड्स बनाने की दर को कम करता है। ओमेगा -3 फैटी एसिड हमारे शरीर के सूजन को कम करना, धमनियों में पट्टिका के निर्माण को रोकना, और रक्त को पतला करने में सहायता करने जैसे काम करता है। इसलिए अपने आहार में सालमोन, मैकेरल, ट्यूना, हेरिंग, और सार्डिन जैसी वसायुक्त मछली को शामिल करें। इसके अलावा ओमेगा-3 फैटी एसिड के अन्य स्रोत अलसी के बीज और अखरोट हैं। अगर आप ओमेगा-3 फैटी एसिड लेने पर विचार कर रहे हैं तो पहले स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता के साथ चर्चा करें कि कौन सी ओमेगा-3 फैटी एसिड की खुराक आप के लिए सही है। मुख्यतया तब जब आप रक्त को पतला करने वाली दवाइयाँ ले रहें हों।

फाइबर जो खाद्य-पदार्थों जैसे सूखे मेवे, सोयाबीन, और फाइटोस्टेराँल्स , एक अलग तंत्र (mechanisms) द्वारा कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि संतुलित आहार, संयंत्र पदार्थ (plant substances) और संतृप्त वसा को कम मात्रा में लेने से कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है।

ट्रांस वसा से दूर रहें

आंशिक रूप से हाइड्रोजनीकृत और हाइड्रोजनीकृत वनस्पति तेलों का प्रयोग न करें। यह मानव-निर्मित तेल ट्रांस फैट की अत्यधिक मात्रा रखते हैं और यह आपके LDL कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देते हैं। इसके अलावा यह हृदय की सुरक्षा करने वाले HDL यानी गुड कोलेस्ट्रॉल को भी नष्ट कर देते हैं। यह शरीर में सूजन को बढ़ावा देते हैं। आप किसी भी प्रोडक्ट के साथ अब उसके नुट्रिशन फैक्ट्स को भी पढ़ सकते हैं।

यदि आप नियमित रूप से व्यायाम कर रहें हैं और संतुलित आहार भी ले रहें हैं लेकिन इसके बावजूद भी आपका कोलेस्ट्रॉल कम नहीं हो रहा तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से भी बात करें। ऐसा करने से आपकी दवाइयाँ बदल सकता है।

Master Blood Check-up covering 61 tests like Iron, Vitamn D, Thyroid Function, Complete Hemogram, Renal Profile, Lipid & Cholestrol Profile just in 299 RS click now to avail offer



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !