कैसे पहचाने दमा (अस्थमा)?

भाषा चयन करे

21st November, 2015

Kaise pahchane asthama? | How to Diagnose Asthma? | कैसे पहचानें अस्थमा?दमा सांस का रोग होता है, इस रोग में रोगी ठीक से सांस नहीं ले पाता। एक और जहाँ इस रोग में रोगी को साँस बाहर निकालने में दिक्कत होती है, वहीं दूसरी और कभी-कभी तो साँस रुक भी जाती है। इस तरह की परेशानी कोव श्वासारोध (Asphyxia) या दम घुटना कहा जाता है। हालाँकि ऐसा नहीं है कि साँस में होने वाली हर एक तकलीफ दमा ही हो।

Image Source

यहाँ पर दमे के कुछ लक्षण दिए गयें हैं, जिनके द्वारा इसकी पहचान की जा सकती है। हालाँकि दमे की शुरुआत आम एलर्जी जैसे खाँसी, छींक या सर्दी वाले लक्षणों से शुरू होती है लेकिन धीरे-धीरे बढ़ते-बढे यह कई परेशानियों को शरीर में इकट्ठा कर दमे का रूप ले लेती है।

दमा के कुछ आम लक्षण इस प्रकार हो सकतें हैं:-

  • इसका सबसे पहला और मुख्य लक्षण तो, साँस लेने में कठिनाई ही होता है।
  • सांस लेने के दौरान गले से एक आवाज सी सुनाई देना, जो घरघराहट जैसी लग सकती है।
  • साँस लेने में इतनी तकलीफ होती है, कि रोगी को पसीना तक आने लगता है।
  • रोगी को साँस लेने, में तकलीफ के चलते ही उसे बैचेनी महसूस होने लगती है।
  • थकावट, और सिर में दर्द।,
  • सीने में जकड़न।
  • दमा रोग से पीड़ित रोगी को रोग के शुरुआती समय में खांसी, सरसराहट और सांस उखड़ने के दौरे भी पड़ते हैं।
  • स्थिति ज्यादा बिगड़ने पर उल्टी जैसे लक्षण भी सामने आ सकतें हैं।
  • खांसी जैसा महसूस होना और स्थिति ज्यादा बिगड़ने पर उल्टी हो जाना।
  • लगातार छींक आना।
  • ज्यादा गर्मी या सर्दी में यह और भी ज्यादा घातक हो जाता है।
  • साँस फूलना।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !