सोरायसिस के कारण

भाषा चयन करे

31st May, 2017

Kyon hota hai Psoriasis? | क्यों होता है सोरायसिस? | Why Psoriasis occures?सोरायसिस किस वजह से होता है, इसके सटीक कारणों की जानकारी तो नहीं अभी तक नहीं मिल पाई है, लेकिन इसका एक कारण शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता का जरूरत से ज्यादा सक्रीयत होना माना जाता है, जिसके कारण त्वचा की कोशिकाओं में असामान्य रूप से तेजी से बढ़ोत्तरी होने लगती है। दरअसल शरीर की रोग प्रति रोधक क्षमता, शरीर की रोगों और संक्रमण से रक्षा के लिए होती है।

Image Source

शरीर के संक्रमण से लड़ने का कार्य शरीर की सफ़ेद रक्त कोशिकाएं करती हैं। यह सफ़ेद रक्त कोशिकाएं पूरे शरीर में घूम-घूम कर जहाँ भी कोई हानिकारक  तत्व इन्हें दिखाई देता है, उन पर आक्रमण कर देती हैं। लेकिन यदि कोई व्यक्ति सोरायसिस से पीड़ित होता है, तो उसके शरीर में यह टी सेल्स संक्रमण पर आक्रमण करने के बजाय गलती से त्वचा की कोशिकाओं पर ही आक्रमण करना शुरू कर देती हैं। यह अति सक्रीय T-सेल्स दूसरी प्रति रक्षा प्रणालीयों को प्रभावित करने के साथ-साथ शरीर में रक्त वाहिकाओं को भी प्रभावित करती है और इससे रक्त वाहिकाएं फ़ैल जाती हैं। इससे जिस जगह पर अति सक्रीय रक्त वाहिकाओं ने आक्रमण किया है उस स्थान रक्त के साथ-साथ सफ़ेद रक्त कोशिकाएं भी पहुंच जाती हैं और उस स्थान की त्वचीय कोशिकाओं पर आक्रमण करना शुरू कर देती हैं। उस स्थान पर कोशिकाओं के मृत होने से नई कोशिकाओं का निर्माण भी तेजी से होने लगता है और हमारा शरीर इन अतिरिक्त सक्रीय कोशिकाओं के निर्माण को व्यस्थित नहीं कर पाता।

इस तरह की स्थिति में, उस स्थान पर एक और तो त्वचा की कोशिकाएं तेजी से बनती रहती हैं और दूसरा वहां सफ़ेद रक्त कोशिकाओं का बहाव भी तेज रहता है। ऐसा होने से, शरीर के उस हिस्से पर सफ़ेद, या सिल्वर या लाल रंग के खुरदरे चकते बन जाते हैं। यह प्रक्रिया तब तक चलती रहती है, जब तक इसमें उपचार के द्वारा दखल अंदाजी नहीं की जाती।

जहाँ एक और यह समस्या शरीर में अति सक्रिय रोग प्रति रोधक क्षमता से पनपती है, वहीं दूसरी और कुछ ऐसी अन्य चीजें भी हैं जो इसे और ज्यादा घातक बना सकती हैं।

सोरायसिस को और घातक बना सकती हैं निम्न स्थितयां-

  • संक्रमण जैसे गले का और त्वचा का
  • किसी कीड़े द्वारा काट लिया जाना
  • सूर्य से त्वचा का झुलस जाना
  • तनाव
  • ठंडा पानी
  • धूम्रपान
  • बहुत ज्यादा मात्रा  शराब का सेवन
  • कुछ दवाइयां जैसे;  लिथियम, बीटा ब्लॉकर्स, एंटी मलेरियल, ब्लड प्रैशर के लिए ली जाने वाली दवाइयां और आयोडाइज़्ड दवाइयां भी इस समस्या को और बढ़ सकती हैं।  

इन सभी परिस्थितियों के अलावा, पर्यावरणीय स्थितियां या फिर त्वचा की उचित देख भाल न कर पाने से भी यह स्थिति और ज्यादा खराब हो सकती है। इसलिए सोरायसिस के मरीजों को किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क कर के नियमित तौर पर डॉक्टर के बताये निर्देशों का पालन करना चाहिए।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !