सोरायसिस का घरेलू और प्राकर्तिक उपचार

भाषा चयन करे

26th June, 2017

Psoriasis se prakritik taur par chutkara kaise paayen? | सोरायसिस से प्राकर्तिक तौर पर छुटकारा कैसे पाएं? | How to get rid of psoriasis naturally?एलोवेरा- एलोवेरा त्वचा के लिए बहुत अच्छी प्राकर्तिक औषधि है। यह त्वचा रोगों से लेकर त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाये रखने तक में बहुत फायदेमंद है। वहीं जिस व्यक्ति को सोरायसिस की समस्या हो उनके लिए भी यह एलोवेरा  फायदेमंद होता है। एलोवेरा जेल का प्रयोग प्रभावित जगह पर कम से कम दो से तीन बार दिन में करना चाहिए।

Image Source

केला- केले के छिलके को अंदर की तरफ से प्रभावित स्थान पर थोड़ी देर तक मसाज करें। यहाँ तक कि रात में सोने से पहले केले के छिलके के भीतरी भाग को बेंडेड की मदद से इस पर लगा कर ही छोड़ दें। एक तो इससे त्वचा मुलायम होगी और दूसरा चकतों में भी रहत मिलेगी।

सेब का सिरका- सेब का सिरका बहुत ही गुणकारी और प्राकर्तिक हर्ब है। सेब के सिरके का प्रयोग त्वाच पर होने वाली खुजली में राहत देने के लिए फायदेमंद है। इसके लिए आप एक चम्मच सेब का सिरका लेकर इसमें थोड़ा पानी मिला लीजिये और रुई की सहायता से इसे प्रभावित स्थान पर लगा लीजिये। थोड़ी देर हल्की मालिश करें। इसके बाद इसे ठंडे पानी से धो लीजिये।

कैमोमाइल- कैमोमाइल में एंटी इंफ्लेमेटरी यौगिक फ्लैवोनॉइड होता है और इसका प्रयोग सोरायसिस के इलाज में बड़े पैमाने पर किया जाता है।

काजू का तेल-  यह तेल भी  सोरायसिस की समस्या में फायदेमंद होता है। यह जहाँ एक और मृत त्वचा को हटा देता है, वहीँ दूसरी और त्वचा को नमी भी देता है और उसे मुलायम बनाता है।

रेंड़ी का तेल- रेंडी का तेल सदियों से कई प्रकार की समस्याओं में प्राकर्तिक औषधि के रूप में प्रयोग किया जाता रहा है। यह जहाँ एक और त्वचा को मुलायम बनाता है, वहीं दूसरी और उसे हील भी करता है। रेंडी के तेल से हल्की मालिश आपको सोरायसिस में तुरन्त राहत दे सकती है। वहीं यदि इसे थोड़े से मीठे सोड़े के साथ मिलाकर लगाया जाए तो यह और भी अच्छे परिणाम दे सकता है।

एलोवेरा जेल और लहसुन का तेल- एलोवेरा जेल और लहसुन के तेल को बराबर मात्रा में मिला कर प्रभावित जगह पर लगाइये। यह सोरायसिस पर, जलन, रूखा पन और खुजली सभी तरह से काम करता है।

हल्दी- हल्दी एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है। यह शरीर को संक्रमण से लड़ने की शक्ति देने के साथ-साथ त्वचा पर पनप चुके संक्रमण को ठीक करने में भी फायदेमंद है। हल्दी का सेवन खाने में तो करें ही साथ ही साथ इसका पेस्ट बना कर प्रभावित स्थान पर भी लगाएं। सोरायसिस जैसी समस्या को रोकने में हल्दी भी एक सबसे प्रभावी प्राकर्तिक दवाओं में से एक हो सकती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !