महिलाओं में ओव्युलेशन के 15 साफ़ संकेत

भाषा चयन करे

18th May, 2017

Kab hota hai Ovulation? | कब होता है ओवुलेशन? | When ovulation happens?ओव्युलेशन वह प्रकिया है, जिसमें महिलाओं का शरीर प्रेगनेंसी के लिए तैयारी करता है। इस दौरान उनकी ओवरी से एग निकलता है, और यही एग स्पर्म के साथ मिलकर भ्रूण का निर्माण करता है। यदि यह स्पर्म से नहीं मिल पाता तो यूट्रस इसे अवशोषित कर लेता है और पीरियड्स के दिनों में यह शरीर से बाहर निकल जाता है। किसी महिला को ओव्युलेशन कब होता है, इसका पता दो पीरियड्स (माहवारी) के बीच के समय से लगाया जाता है। आम तौर पर, पीरियड्स जो एक महीने 28, 30, 32 या ज्यादा से ज्यादा 35 दिनों के अंतराल पर आ ही जाते हैं, इसके शुरुआती दिन, (जिस दिन पीरियड्स शुरू होते हैं) से लेकर 10 से 19 दिनों के बीच, और अगले पीरियड्स से 12 से 14 दिनों पहले ओव्युलेशन होता है।

Image Source

उन महिलाओं के लिए जो प्रेगनेंसी की तैयारी कर रहीं हैं, उनके लिए ओव्युलेशन की सही जानकारी होना, उनकी आसान प्रेगनेंसी में मदद कर सकता है। क्योंकि ज्यादातर महिलाओं के मन में यह सवाल होता है कि उन्हें यह कैसे पता चले कि अब उन्हें ओव्युलेशन हो रहा है या नहीं, इसका एक तरीका है अपने पीरियड्स के दिनों को गिन कर इसका अंदाजा लगाना और साथ ही अपने शरीर में होने वाले उन बदलावों पर नज़र रखना जो  ओव्युलेशन के समय उनके शरीर में होते हैं।

ऐसे 15 संकेत जो ओव्युलेशन के समय पर महिलाओं को देखने को मिलते हैं-

  1. ओव्युलेशन के समय पर एक सफ़ेद (अंडे की सफेदी) जैसा गाढ़ा तरल निकलना शुरू हो जाता है। यही वह तरल होता है, जो स्पर्म के रास्ते को चिकना कर उसे अंडाणु से मिलने में मदद करता है।
  2. कभी-कभी तो आपको अपने अंदर (पेट में) कुछ होते हुए भी महसूस होता है। यदि आपको ज्यादा जानकारी न हो तो आप इसे नहीं पहचान पाती।
  3. पेट में हल्का दर्द भी महसूस हो सकता है। यह तब होता है जब, ओवरी (अंडाणु) के भीतर की थैली फटती है और उससे एग निकलता है।
  4. ओव्युलेशन के समय महिलाओं के व्यवहार में बहुत बदलाव आ जाता है। वह पहले के मुकाबले ज्यादा खुश रहना शुरू कर देती है।
  5. उसे कपड़ों के चुनाव और अच्छा दिखना अच्छा लगता है। यानि ओव्युलेशन के समय महिलाएं अपनी लुक पर ज्यादा ध्यान देने लगती हैं।
  6. इस दौरान महिलाओं के शरीर का तापमान खुद-ब-खुद बढ़ जाता है। वह आम दिनों के मुकाबले ओव्युलेशन के समय ज्यादा गर्म प्रतीत होती हैं।
  7. इस दौरान वह बाकी के दिनों से ज्यादा सुन्दर भी दिखती हैं।
  8. महिलाओं में अंतरंग संबंध बनाने के प्रति रूचि बढ़ जाती है, क्योंकि यौन इच्‍छा इस समय चरम पर होती है।  
  9. इस दौरान, महिलाएं अपने पार्टनर से ज्यादा आकर्षित रहती हैं।
  10. इस दौरान, महिलाओं के शरीर से एक अच्छी महक भी आनी शुरू हो जाती है।
  11. महिला की आवाज में थोड़ा बदलाव आ जाता है और उसकी आवाज पहले के मुकाबले ऊँची हो जाती है।
  12. महिलाओं के चलने का ढंग थोड़ा बदल जाता है और चाल थोड़ी और सेक्सी हो जाती है।
  13. इस दौरान, उनके शरीर की बनावट में भी थोड़े अच्छे परिवर्तन होते हैं।
  14. ओव्युलेशन के दौरान, महिला का पार्टनर या अन्य पुरुष भी उससे ज्यादा आकर्षित होते हैं।
  15. इस दौरान, महिलाओं के सूंघने की शक्ति बढ़ जाती है।



अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !





अधिक जानकारी के लिए क्लिक करे !